भारतीय जांच एजेंसी ने पाक टीम को पठानकोट हमले के संबंध में प्रेजेंटेशन दिया

Mar 29, 2016

पठानकोट हमले के मामले में पाकिस्तान से आई पांच सदस्यीय संयुक्त जांच टीम सोमवार को भारतीय जांच एजेंसी के सामने मौन धारण किए हुई थी.

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सात घंटे तक पाकिस्तानी जांच दल के सामने प्रेजेंटेशन देकर उनके देश की पोल खोल दी. भारत ने कहा कि वह पाक जांच दल को सब मदद करेगा, लेकिन किसी गवाह से उन्हें सीधे बात नहीं करने देगा. एनआई ने कहा कि सवाल पाकिस्तान का होगा लेकिन पूछेगा एनआईए, बेशक पाकिस्तानी जांच एजेंसी वहां बैठे. भारत ने कहा कि वह भी पाकिस्तान जाकर कुछ लोगों से पूछताछ करना चाहता है इसकी व्यवस्था की जाए.

सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान से पठानकोट हमले के मामले में आया संयुक्त जांच दल करीब सात घंटे एनआईए के अधिकारियों के साथ रहा. भारतीय जांच एजेंसी ने पठानकोट हमले के संबंध में प्रेजेंटेशन दिया कि आतंकवादी किस रास्ते से आए. एनआईए ने अपने प्रेजेंटेशन में पाकिस्तानी जांच दल को चारों आतंकवादियों की डीएनए रिपोर्ट और पाकिस्तान में उनके ठौर ठिकाने को दिखाया. सूत्रों के अनुसार एनआईए ने जांच दल को पाकिस्तान के उस फोन नम्बर का ब्यौरा और अवाज के नमूने दिए जहां पर पठानकोट में हमले से पहले आतंकवादी नासिर ने और दूसरे आतंकियों ने अपने अपने परिवार और आकाओं से बातचीत की थी.

सूत्रों के अनुसार भारतीय जांच एजेंसी ने पाक जांच एजेंसी को असफाक अहमद, हाफिज अब्दुल, शकूर और कासिम जान के आवाज के नमूने दिए जो जैश के कमांडर हैं और बहावलपुर में बैठकर आतंकियों को हमला करने का निर्देश दे रहे थे.

 

सूत्रों के अनुसार प्रेजेंनटेशन के दौरान भारतीय जांच एजेंसी जैश चीफ अजहर मसूद के भाई राउफ अलवी के भी आवाज के नमूने दिखाए जिसे एक वेबसाइट पर यह कहते हुए दिखाया गया कि अच्छा किया गया है. सूत्रों के अनुसार पाक जांच टीम मंगलवार को पठानकोट के लिए रवाना होगी और शाम तक दिल्ली वापस आ जाएगी.

सूत्रों के अनुसार भारतीय जांच एजेंसी ने एक बात साफ तौर पर कहा है कि वह जिस तरह जांच में मदद कर रहा है ठीक उसी प्रकार वह भी जैश के कमांडरों से पूछताछ करेगा इसकी व्यवस्था की जाए. इसके अलावा राउफ अलवी और आतंकवादी नासिर की मां और चाचा से भी पूछताछ की व्यवस्था की जाए. सूत्रों के अनुसार पाकिस्तानी जांच एजेंसी अगर किसी गवाह व प्रत्यक्षदर्शी से पूछताछ करना चाहता है तो सीधे बातचीत नहीं करने दिया जाएगा, बल्कि पाकिस्तानी जांच टीम सवाल भारतीय जांच एजेंसी को बताए, वह सवाल भारतीय जांच एजेंसी पूछेगी, बेशक पाकिस्तानी टीम वहां बैठी रहे.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>