आतंकवाद और चरमपंथ आज विश्व के लिए सबसे बड़ी चुनौती: मोदी

May 31, 2017
आतंकवाद और चरमपंथ आज विश्व के लिए सबसे बड़ी चुनौती: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को स्पेन के अपने समकक्ष मारियानो राजोय के साथ वार्ता से पहले कहा कि आतंकवाद ने दुनिया के लिए सबसे बड़ी चुनौती पेश की है और यह भारत-स्पेन के संबंधों का महत्वपूर्ण तत्व है। मोदी ने स्पेन के प्रधानमंत्री के आधिकारिक आवास ला मोनक्लोआ में मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, “भारत और स्पेन दोनों ने आतंकवाद का सामना किया है। आतंकवाद और चरमपंथ आज विश्व के लिए सबसे बड़ी चुनौती हैं।”

उन्होंने कहा, “आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में हमारे बीच सहयोग को मजबूत करना द्विस्तरीय एजेंडे का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।”

मोदी ने यह टिप्पणी काबुल में बुधवार को हुए भीषण विस्फोट के बाद की है, जिसमें कई लोगों की मौत और सैंकड़ों घायल हो गए।

ये भी पढ़ें :-  नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की गोलीबारी, फिर 1 भारतीय जवान शहीद

मोदी यूरोप के चार देशों के छह दिवसीय दौरे के दूसरे चरण के तहत मंगलवार को जर्मनी से यहां पहुंचे। इसके बाद वह रूस और फ्रांस भी जाएंगे।

किसी भारतीय प्रधानमंत्री का पिछले 30 सालों में स्पेन का यह पहला दौरा है, इससे पहले राजीव गांधी 1988 में स्पेन गए थे।

मोदी ने कहा कि हालांकि भारत और स्पेन के बीच 60 सालों के राजनयिक संबंध हैं, लेकिन 1988 के बाद पहली बार किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने यहां का दौरा किया है और मुझे आशा है कि भविष्य में इतना बड़ा अंतर नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि आज के बदलते वैश्विक परिप्रेक्ष्य में क्षेत्रीय और वैश्विक विकास पर मित्र राष्ट्रों के बीच घनिष्ठ विचार-विमर्श समय की आवश्यकता है।

ये भी पढ़ें :-  केंद्र में नरेंद्र मोदी और प्रदेश में योगी आदित्यनाथ विपक्ष को खत्म करना चाहते हैं: आजम खां

अर्थव्यवस्था में तेज प्रगति पर स्पेन की तारीफ करते हुए मोदी ने कहा कि उनकी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता भारत विकास और आर्थिक विकास है।

मोदी ने मारियानो के साथ बातचीत के बारे में कहा कि उनके साथ चर्चा से दोनों देशों के संबंधों में सुधार होगा। दोनों देश सभी क्षेत्रों में मिलकर काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि स्पेन रेलवे, स्मार्ट शहर और बुनियादी ढांचे जैसी भारत की विकास प्राथमिकताओं में अपनी विशेषज्ञता प्रदान कर सकता है।

उन्होंने कहा, “मुझे विश्वास है कि स्पेन की मेरी यात्रा हमारे संबंधों को नई गति देगी।”

मोदी बुधवार को किंग फिलिप छठे से मुलाकात करेंगे।

ये भी पढ़ें :-  भारत को विकासशील देशों की श्रेणी में रखे जाने से तकलीफ महसूस होती: अमिताभ

वहीं, राजोय ने कहा कि मोदी की यात्रा के बाद द्विपक्षीय संबंध गहरे होंगे।

मोदी बुधवार को स्पेन के कुछ चुनिंदा सीईओ के साथ गोलमेज वार्ता भी करेंगे।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>