तमिलनाडु: विजयदशमी पर जुलुस निकालने के लिए आरएसएस को पहननी होगी फुल पेंट, HC

Oct 05, 2016
तमिलनाडु: विजयदशमी पर जुलुस निकालने के लिए आरएसएस को पहननी होगी फुल पेंट, HC

तमिलनाडु में आरएसएस के लिए एक नई दिक्कत पैदा हो गयी है। तमिलनाडु में विजयदशमी के अवसर पर जिन रैलियों को आरएसएस निकालने की तैयारियों में जुटा हुआ है, उनके लिए उन्हें फुल पैंट (पतलून) ही पहननी होंगी, क्योंकि हाईकोर्ट ने आदेश दिया है कि वे उन हाफपैंटों (नेकरों) को पहनकर जुलूस नहीं निकाल सकते। इस लिए मजबूरन आरएसएस के कार्यकर्ताओ को फुल पैंट पहननी होगी।

हालांकि तमिलनाडु में आरएसएस की उतनी प्रभावी उपस्थिति नहीं है, जितनी अन्य दक्षिण भारतीय राज्यों में है, और उन्होंने राज्यभर में 14 जुलूस आयोजित करने का फैसला किया है, जिनमें से प्रत्येक में 200 से 300 कार्यकर्ता शामिल होंगे। कन्याकुमारी तथा कोयम्बटूर में उन्हें लगभग 2,000 सदस्यों के जुट जाने की उम्मीद है। पुलिस ने कानून एवं व्यवस्था की स्थिति के बिगड़ने की संभावना से इन जुलूसों को अनुमति देने से इंकार कर दिया था, लेकिन कोर्ट ने कहा है कि आरएसएस जुलूस निकाल सकती है, लेकिन उसी स्थिति में, जब वे फुल पैंट पहनें तभी।

अधिकारियों का कहना है कि चेन्नई सिटी पुलिस एक्ट के मुताबिक उन जुलूसों पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है, जिनमें शिरकत करने वालों की पोशाक सशस्त्र बलों या पुलिस की वर्दी से मिलती-जुलती हो। कई दशक से आरएसएस के कार्यकर्ता जिस वर्दी – सफेद कमीज़ तथा खाकी हाफपैंट – को पहनते आ रहे हैं, वह राज्य पुलिस की ट्रेनिंग के दौरान पहनी जाने वाली वर्दी से बहुत मिलती-जुलती है। इस साल के जुलूसों में शिरकत के लिए छड़ी को उन्हें घर पर छोड़कर जाना होगा, क्योंकि पुलिस उन्हें हथियार के रूप में देखती है, और उसे ले जाने की अनुमति नहीं मिलेगी।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>