तमिलनाडु सरकार लोगों की अपनी मर्जी के अनुरूप ही उठाएगी कदम

Jun 20, 2017
तमिलनाडु सरकार लोगों की अपनी मर्जी के अनुरूप ही उठाएगी कदम

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलनीस्वामी ने मंगलवार को कहा कि वध के लिए पशुओं की खरीद-फरोख्त पर केंद्र सरकार की रोक पर न्यायालय का फैसला आने के बाद राज्य सरकार इस मामले में लोगों की इच्छा के आधार पर कदम उठाएगी। इस मुद्दे पर पलनीस्वामी ने पहली बार राज्य सरकार का रुख स्पष्ट किया है।

राज्य विधानसभा में द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के सवालों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए पलनीस्वामी ने कहा कि केंद्र सरकार भी नियमों में परिवर्तन पर विचार कर रही है।

उन्होंने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय तथा मद्रास उच्च न्यायालय में भी केंद्र सरकार के आदेश के खिलाफ मामले की सुनवाई होनी है।

ये भी पढ़ें :-  योगी सरकार के मंत्री ने गैंगरेप को लेकर दिया शर्मनाक बयान, बोले- 'हादसे तो कभी-कभी हो जाते हैं'

मुख्यमंत्री ने कहा कि अदालत के फैसला के बाद उनकी सरकार उचित कदम उठाएगी।

पलनीस्वामी ने यह भी कहा कि उनकी सरकार जो राय अधिकांश लोगों की होगी, उसी की इच्छा के अनुरूप कदम उठाएगी।

जब विधानसभा अध्यक्ष पी. धनपाल ने डीएमके को एक बार फिर मुद्दा उठाने की मंजूरी देने से इनकार कर दिया, तो डीएमके तथा कांग्रेस के विधायकों ने सदन से बहिर्गमन किया।

सत्ताधारी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) को समर्थन देने वाले तीन विधायकों ने भी पलनीस्वामी के जवाब से असंतुष्टि जताते हुए सदन से बहिर्गमन किया।

इन तीन विधायकों में अभिनेता से राजनीतिज्ञ बने करूनास, तामिमुम अंसारी तथा यू.तानियारसु शामिल थे।

ये भी पढ़ें :-  पंचायत का बड़ा फैसला: कुंवारी लड़कियां न तो मोबाइल रखेंगी, न ही पुरुषों से बात करेंगी
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>