शंकराचार्य स्वरूपानंद बोले, सिख धर्म की स्थापना हिंदुओं की रक्षा के लिए की गई थी, पाक पर अपनी शक्ति दिखाए भारत

Jul 22, 2016

कनखल स्थित शंकराचार्य मठ में पत्रकारों से वार्ता करते हुए शंकराचार्य ने कहा कि सिख हमारे देश के सम्मानित नागरिक हैं। पंजाब सहित पूरे देश में उन्हें सभी अधिकार प्राप्त हैं। सिख धर्म की स्थापना हिंदुओं की रक्षा के लिए की गई थी। फिर अलग खालिस्तान की मांग का औचित्य क्या है? उन्होंने कहा कि कुछ लोग उकसावे में आकर ऐसी मांग उठा रहे हैं।

VIDEO जम्मू कश्मीर के हालात पर शंकराचार्य ने कहा कि भारत सरकार कार्रवाई करने में देर कर रही है। सबसे पहले पाक अधिकृत कश्मीर में चल रहे आतंकवादी ट्रेनिंग देने वाले अड्डों को खत्म करना चाहिए। सिर्फ बयानबाजी करने से पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आएगा। भारत को अपनी शक्ति का प्रदर्शन करना होगा।

ये भी पढ़ें :-  सीआरपीएफ के 2 शहीदों का हिमाचल में राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि

अयोध्या के बारे में मिले वैज्ञानिक तथ्य
शंकराचार्य ने दावा किया कि अयोध्या में बाबर की कोई भूमिका नहीं थी, यह बात वैज्ञानिक तथ्यों से स्पष्ट हो चुकी है। अब तक जो झगड़ा चल रहा था वह भ्रामक तथ्यों पर आधारित था।

दिल्ली में लगे तिरुवल्लुवर की प्रतिमा
शंकराचार्य ने कहा कि तिरुवल्लुवर दक्षिण भारत के अच्छे कवि थे। लेकिन उनका हरिद्वार से संबंध समझ से परे है। यदि उन्हें उत्तर दक्षिण की एकता का सेतु बनाना है तो उनकी प्रतिमा दिल्ली में लगाई जानी चाहिए। हरिद्वार तो काफी छोटा स्थान है।

नेताओं को अपशब्द नहीं बोलने चाहिए
दलितों के उत्पीड़न के नाम पर यूपी में विरोध प्रदर्शनों पर शंकराचार्य ने कहा कि इस समय जो चल रहा है, उससे बसपा ही कमजोर पड़ेगीं। आज कोई नेता एक वर्ग विशेष के दम पर मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री नहीं बन सकता। उन्होंने नसीहत देते हुए कहा कि नेताओं को अपशब्द नहीं बोलने चाहिए। माफी मांगने के साथ ही इस तरह के विवाद खत्म हो जाने चाहिए।

ये भी पढ़ें :-  छिंदवाड़ा : सहकारी समिति में कैरोसिन में लगी आग, 13 जिंदा खाक

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>