रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन में आये स्वामी अग्निवेश, ‘गांधी जयंती’ के मौके पर व्रत रखने का ऐलान

Sep 26, 2017
रोहिंग्या मुसलमानों के समर्थन में आये स्वामी अग्निवेश, ‘गांधी जयंती’ के मौके पर व्रत रखने का ऐलान

म्यांमार के रोहिंग्या मुसलमानों के साथ केंद्र के व्यवहार पर आर्य समाजी स्वामी अगनिवेश ने कड़ी आलोचना करते हुए 2 अक्टूबर यानि ‘गांधी जयंती’ के अवसर पर व्रत रखने का ऐलान किया है।

बता दें कि स्वामी अग्निवेश ने यहां मीडिया से बात करते हुए कहा कि “हिन्दुस्तान की ‘वसुधैव कुटुंबकम’ की परंपरा है कि इंसानियत का फ़राइज़ अदा करते हुए लोगों को सुरक्षा देते हुए पनाह दी जाती रही है।” स्वामी जी ने कहा कि “जिस तरह से हिंदुस्तान ने बांग्लादेशी, तिब्बती और अफगानिस्तान के शरणार्थियों को दिया है, उसी तरह रोहिंग्या मुसलमानों को भी देश में पनाह दी जानी चाहिए।”

ये भी पढ़ें :-  ADR रिपोर्ट: चौकीदार बनकर आए पीएम मोदी के राज में BJP बनी सबसे अमीर पार्टी, कांग्रेस दूसरे स्थान पर

उन्होंने केंद्रीय ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह के जरिए रोहिंग्या मुस्लिम को आतंकवाद बताने की निंदा करते हुए कहा कि इसलिए उन्हें केन्द्रीय गृहमंत्री की ओर से आंतकी बताया जा रहा है। क्यों कि सरकार ने एक भी रोहिंग्या मुस्लिम के आतंवादी होने का सबूत पेश कर सकी है। उन्होंने कहा कि “रोहिंग्या मुस्लिम अपने देश में हो रहे असुरक्षा और नरसंहार की समस्या से जूझकर जम्मू-कश्मीर में 60,000 से अधिक लोग पनाह लिए हुए हैं। जिनके सुरक्षा खाने पीने और स्वास्थ्य की नैतिक ज़िम्मेदारी केंद्र सरकार की है।” उन्होंने मोदी सरकार पर धार्म के आधार पर शरणार्थियों को बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि “इन नीतियों की वजह से देश में संप्रदायिकता को बढ़ावा मिल रहा है।”

ये भी पढ़ें :-  BJP को हारता देख सुब्रमण्यम स्वामी ने फिर अलापा 'राम मंदिर' का राग..
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>