चीन और भारत के बीच डोकलाम विवाद पर युद्ध को लेकर सुषमा स्वराज ने दिया बड़ा बयान

Aug 19, 2017
चीन और भारत के बीच डोकलाम विवाद पर युद्ध को लेकर सुषमा स्वराज ने दिया बड़ा बयान

लगातार चीन और भारत के बीच सीमा जारी है। डोकलाम को अपनी सीमा बताते हुए चीन का कहना है कि, भारत डोकलाम से अपनी सेना हटाए। वहीं कुछ दिन पहले चीनी सेना ने उत्तराखंड के क्षेत्रों में भी घुसपैठ की थी। इस मामले पर संसद में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपना जवाब दिया है। उन्होंने गुरूवार को कहा कि, दोनों देशों के बीच के सीमा विवाद को चर्चा से ही हल किया जा सकता है। हालांकि भारत चीन के आक्रामक रवैये से विचलित नहीं है। चीन और भारत सीमा विवाद पर राज्य सभा में लगभग 7 घंटे तक बहस चलती रही। चीन के राजदूत से सुषमा स्वराज ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की भेंट को गलत बताते हुए विपक्ष पर आरोप लगाए कि उसे सरकार का साथ देना चाहिए जबकि वह चीन के साथ हमदर्दी जता रहा है।

ये भी पढ़ें :-  स्कूल डायरेक्टर और टीचर ने मिलकर किया स्टूडेंट का रेप, प्रेग्नेंट हुई तो कराया अबॉर्शन

कहा कि युद्ध करने से किसी भी बात का हल नहीं होगा। इस मामले पर चर्चा होनी जरूरी है। उन्होंने कहा कि भारत और चीन के बीच डोकलाम समेत दूसरी सीमाओं पर दोनों देशों के बीच होने वाले विवाद को चर्चा से हल किया जा सकता है। कहा कि धैर्य से ही किसी भी समस्या का समाधान संभव है।

चीन का विदेश मंत्रालय, रक्षामंत्रालय व सरकारी मीडिया देश को लेकर तरह तरह के आरोप लगाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू भले ही विदेश मामलों में पहल किया करते थे लेकिन वे केवल अपनी इमेज मेकिंग में ही रहे। कहा कि विपक्ष आज चीनी घुसपैठ, ग्वादर और हंबनटोटा पर सवाल उठा रहा है। लेकिन,ये सारे मसले कांग्रेस के समय के हैं। पाकिस्तान के संदर्भ में उन्होंने कहा कि जब तक पाकिस्तान आतंकवाद के विरूद्ध कार्रवाई नहीं करता हम बात नहीं कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें :-  16 लाख रोज़ कमाने वाले राम रहीम अब जेल में करेंगे सब्जियों की खेती, मिलेगी 20 रुपए मजदूरी
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>