सुशांत रोहिला सुसाइड केस में AMITY के डायरेक्टर और प्रोफेसर का इस्तीफा

Aug 19, 2016

नोएडा। नोएडा के एमिटी यूनिवर्सिटी के छात्र सुशांत रोहिला की आत्महत्या के मामले में दवाब बढ़ने के बाद यूनिवर्सिटी डायरेक्टर बी.पी. सहगल और प्रोफेसर इशिता रुताभाषिणी ने इस्तीफा दे दिया है। सुशांत को इंसाफ की मांग के लिए यूनिवर्सिटी के छात्र हड़ताल कर रहे हैं। छात्रों ने ऑनलाइन कैंपेन ‪#‎JusticeForSushant‬ भी चलाया हुआ है। छात्र की बहन महक रोहिला ने इंसाफ की मांग करते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन के चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।

दिल्ली के सरोजनीनगर निवासी सुशांत रोहिला नोएडा सेक्टर-125 स्थित एमिटी यूनिवर्सिटी में एलएलबी थर्ड ईयर का स्टूडेंट था। बताया गया है कि पढाई और डिपॉर्टमेंट की तरफ से आयोजित स्टडी प्रोग्राम को लेकर वह कई बार एजुकेशन टूर पर गया था। इसके अलावा वह बीमार भी हो गया था। जिसकी वजह से कक्षा में उसकी अटेंडेंस शॉर्ट हो गई थीं। प्रशासन ने शॉर्ट अटेंडेंस के नाम पर परीक्षा से वंचित कर दिया था।

वह साल 2016-2017 सत्र में फोर्थ ईयर में आने वाला था, लेकिन एटेंडेंस शोर्ट होने की वजह से उसे यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने एग्जाम में नहीं बैठने दिया था। जिसके बाद यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने उसे एक साल बैक कर दिया था। ईयर बैक होने पर सुशांत रोहिला मानसिक तौर पर परेशान रहने लगा था। वह अंदर ही अंदर घुटने लगा था।

मानसिक तौर पर टूट जाने के बाद उसने अपने घर में ही बीते दस अगस्त को ग्रिल से लटकर फांसी लगा ली थी। पुलिस और परिजनों ने मौके से एक सुसाइड नोट बरामद किया था। जिसमें सुशांत ने अपने परिजनों को लिखा कि वह आपकी आशाओं पर खरा नहीं उतर सका। इसके लिए मुझे माफ कर देना। इसके लिए यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट भी जिम्मेदार है।


अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>