BJP को हारता देख सुब्रमण्यम स्वामी ने फिर अलापा ‘राम मंदिर’ का राग..

Oct 16, 2017
BJP को हारता देख सुब्रमण्यम स्वामी ने फिर अलापा ‘राम मंदिर’ का राग..

बाबरी विध्वंस, हिंदुत्व, तीन तलाक़ के मुद्दे के अलावा बीजपी के पास चुनाव के लिए कुछ मुद्दे नज़र नहीं आते। जैसे ही चुनाव करीब आता है। अपने इन्ही हथकंडे को अपनाने लग जाती है।

बता दें कि बीजेपी के लिए इन्ही हथकंडे में सबसे प्रमुख राम मंदिर का निर्माण है। यही वजह है कि इसी मुद्दे पर बीजेपी का सारा दारोमदार है। राम मंदिर निर्माण का भरोसा दिला कर उत्तर प्रदेश विधानसभा में जीत हासिल की गई है, और ये मुद्दा बस चुनाव के आते ही गर्म हो जाता है। लेकिन जब चुनाव ख़त्म होने के बाद ठन्डे बसते में डाल दिया जाता है।

ऐसा ही संकेत अभी हाल ही में राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कर दिखाया है। क्योंकि उन्होंने कहा कि ‘अगली दिवाली तक अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण होकर रहेगा’ जिसका मतलब ये हुआ कि 2019 लोकसभा चुनाव के आस पास तक बनाया जाएगा। लेकिन ये बात तो साफ़ हो गई है कि ये विकास की बात करनी वाली सरकार इस में बिलकुल फेल हो गई है। अब इनके पास ले दे के एक दो मुद्दे बचे हुए हैं उन्हीं से चुनाव लड़ने की पूरी तरह तैयारी में हैं। इस से ये बात और साफ़ हो गई है कि विकास, रोज़गार, खुशहाल देश ये सब चीजें तो बीजेपी के दिमाग में कभी थे ही नहीं। अगर वो करना चाहते हैं तो बस राम मंदिर निर्माण, पूरे देश में भगवा निर्माण, हिंदुत्व का बोलबाला, हिन्दू मुस्लिम में लड़ाई, ये सब हर आए दिन साफ नज़र आते हैं।

अब देखना ये है कि बीजेपी 2019 के लोकसभा चुनाव में क्या करने वाली है। क्योंकि पटना में आयोजित विराट हिंदुस्तान संगम कार्यक्रम में स्वामी ने कहा, “मुझे तो विश्वास है कि अगली दिवाली तक राम मंदिर में आप लोग पूजा करने के लिए जा सकेंगे।” उन्होंने अपने ही पार्टी के पूर्व प्रधानमंत्री अटल विहारी वाजपेयी और नरसिम्महा राव के बारे में चुटकी लेते हुए कहा कि “देश में सिर्फ विकास से चुनाव नहीं जीते जा सकते। चुनाव जीतना है तो देश में हिंदुत्व की अलख जगाना ज़रुरी है”

आगे उन्होंने कहा कि “अच्छा आर्थिक विकास करना अनिवार्य है लेकिन चुनाव जीतने के लिए सिर्फ वही पर्याप्त नहीं है। पर्याप्त के लिए जो लोगों की भावना है उसको जगाना होता है। वो सिर्फ दो चीजें जगा सकती हैं| एक है इस देश में जो अन्याय करते हैं जो भ्रष्टाचार करते हैं उसको सजा देना और दूसरा जो लोग मूल्यों के लिए जीते हैं। जिसे मैं हिंदुत्व कहता हूं, उस हिंदुत्व को आगे बढ़ाना।”

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>