सुब्रमण्यम को अगर सरकार देशभक्‍त मानती है, तो उन्‍हें हटाने की मांग टाल दूंगा: स्वामी

Jun 23, 2016

भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी अपने बयानों के प्रति बगैर अफसोस जताए कहा कि यदि सरकार भारत के हितों के खिलाफ मुख्य आर्थिक सहलाकार की कोशिश के बावजूद उनको देशभक्त मानती है तो वह उन्हें हटाने की मांग को टाल देंगे.

मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यम के बचाव में सरकार के आने के एक दिन बाद स्वामी ने गुरुवार सुबह ट्विटर पर कहा, ‘‘भारत पर दबाव बनाने की सलाह किसी अन्य देश को देने पर एक भारतीय को देशभक्त करार देकर माफ किया जा सकता है तो मैं अपनी मांग टाल सकता हूं.’’

If an Indian?, held patriotic, can advise a foreign nation where he works, to twist India’s arm, is to be forgiven, then I suspend my demand

— Subramanian Swamy (@Swamy39)

स्वामी ने ट्विटर पर कहा, ‘‘अरविंद सुब्रमण्यम ने अमेरिकी कांग्रेस से 13 मार्च 2013 को कहा, ‘भारतीय कंपनियों और निर्यातकों के साथ भेद-भाव करने से भारत पर अपना बाजार खोलने का दबाव बनेगा’.’’

स्वामी ने बुधवार को सुब्रमण्यम को वित्त मंत्रालय से जुड़ने से पहले वाशिंगटन में अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के अर्थशास्त्री के तौर पर कथित तौर पर भारत विरोधी रख अख्तियार करने के आरोप लगा कर उन्हें हटाने की मांग कर हलचल पैदा कर दी थी.

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने स्वामी की मांग का खारिज करते हुए कहा, ‘‘सरकार का मुख्य आर्थिक सलाहकार में पूरा भरोसा है. उनकी सलाह सरकार के लिए समय-समय पर बहुमूल्य रही है.’’ भाजपा सरकार ने सुब्रमण्यम को उनके पूर्ववर्ती रघुराम राजन सितंबर 2014 में आरबीआई के गवर्नर बनने के बाद अक्टूबर 2014 में मुख्य आर्थिक सलाहकार बनाया था.

स्वामी ने गुरुवार को ट्विटर पर कहा, ‘‘यदि केंद्र की भाजपा सरकार यह कहती है कि हमें अरविंद सुब्रमण्यम के बारे में सबकुछ पता है तो मैं अपनी मांग टाल दूंगा और यह सच साबित होने तक इंतजार करूंगा.’’

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>