दूरसंचार सेक्टर में खलबली: जियो और दिग्गज कंपनियों की ट्राई के साथ बैठक कल

Sep 09, 2016
दूरसंचार सेक्टर में खलबली: जियो और दिग्गज कंपनियों की ट्राई के साथ बैठक कल

दूरसंचार नियामक ट्राई ने दूरसंचार क्षेत्र में नया-नया प्रवेश करने वाली रिलायंस जियो और एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया जैसी क्षेत्र के पुराने कंपनियों के बीच प्‍वाइंट ऑफ इंटरकनेक्ट (कॉल को प्रवेश देने के मार्ग) पर विवाद का समाधान ढूंढने के लिए एक बैठक बुलाई है। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया, इंटर कनेक्शन के मुद्दे पर ट्राई कल दूरसंचार सेवाप्रदाताओं के साथ बैठक करेगा। दूरसंचार सेवाप्रदाताओं के औद्योगिक संगठन सीओएआई ने प्रधानमंत्री कार्यालय को एक पत्र लिख कर कहा है कि मौजूदा सेवाप्रदाता ऐसी इंटरकनेक्ट सुविधा देने के लिए बाध्य नहीं है, जो गैर-प्रतिस्पर्धी हो। उसने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री कार्यालय से हस्तक्षेप करने की मांग करते हुए फिर से स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बहाल करने के लिए कहा है।

सीओएआई ने कहा है कि मौजूदा सेवाप्रदाताओं का नेटवर्क और वित्तीय संसाधन दोनों ही रूप से इस स्थिति में नहीं है, जो स्पष्ट रूप से विषम मात्रा में आने वाले (जियो के) ट्रैफिक को अपने नेटवर्क पर मुकाम तक पहुंचा सके। रिलायंस जियो ने अपनी सेवा की वाणिज्यिक शुरुआत पांच सितंबर से की है। उसका आरोप है कि एयरटेल और वोडाफोन जैसी कंपनियां उसके लिए पर्याप्त मात्रा में प्‍वाइंट ऑफ इंटरकनेक्ट नहीं दे रही हैं। इस पर सीओएआई के महानिदेशक राजन एस. मैथ्यू ने कहा कि जियो को इंटरकनेक्ट देने से पहले मौजूदा सेवाप्रदाताओं के लिए यह जानना आवश्यक है कि कंपनी वाणिज्यिक तौर पर चालू हुई है या नहीं। यदि वह चालू हो गई है तो वह किसी भी हालत में 90 दिन से ज्यादा की मुफ्त पेशकश नहीं कर सकती।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>