आध्यात्मिक गुरु के कार्यक्रम पर रोक लगाने की याचिका सुप्रीम कोर्ट ने ठुकराई

Mar 10, 2016

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में यमुना तट पर होने वाले आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर के कार्यक्रम पर रोक लगाने के संबंध में दायर याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया.

उच्चतम न्यायालय ने गुरुवार को याचिका खारिज करते हुए याचिकाकर्ता भारतीय किसान मजदूर समिति से कहा कि वह अपनी याचिका राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) में दायर करे.

इससे पहले हालांकि याचिकाकर्ता ने एनजीटी में ही कार्यक्रम पर रोक लगाने की गुहार लगायी थी लेकिन एनजीटी ने उसकी याचिका ठुकरा दी थी जिसके बाद ही उसने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था.

श्री श्री रविशंकर की संस्था ‘आर्ट ऑफ लिविंग’ 11 से 13 मार्च तक यमुना तट पर विश्व सांस्कृतिक महोत्सव आयोजित करा रही है जिसमें करीब 35 लाख लोगों के हिस्सा लेने की संभावना है. एनजीटी की एक खंडपीठ ने कल इस तीन दिवसीय विवादास्पद महोत्सव को सशर्त मंजूरी दी थी.

एनजीटी ने आर्ट ऑफ लिविंग फाउंडेशन से आज कहा कि यदि आयोजक आज शाम चार बजे तक पांच करोड़ रुपये का जुर्माना जमा नहीं करा पाते हैं तो  आयोजन के लिए दी गई अनुमति को रद्द किया जा सकता है.

 

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>