BJP को दिया सोनिया गांघी ने जवाब, भारत मेरा घर है और यहीं अपनी आखिरी सांसें लूंगी

May 10, 2016

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि भारत ही उनका घर है ‘यहीं मेरी अस्थियां मेरे प्रियजनों के साथ घुलमिल जाएंगी.’

अपने इटली मूल के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से साधे गए निशाने पर भावुक प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने सोमवार रात कहा कि भारत ही उनका घर है ‘यहीं मेरी अस्थियां मेरे प्रियजनों के साथ घुलमिल जाएंगी.’

कांग्रेस अध्यक्ष ने एक चुनावी रैली में यह भावपूर्ण बयान दिया. विवादित अगस्तावेस्टलैंड हेलीकॉप्टर करार के मुद्दे पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए मोदी ने पिछले तीन दिनों में दो बार सोनिया के इटली मूल का मुद्दा उठाया था.

सोनिया ने अपने भाषण के अंत में कहा कि वह राजनीति से जुड़ी बात नहीं, बल्कि कोई निजी बात साझा करनी चाहती हैं, प्रधानमंत्री मोदी के ‘कांग्रेस और खासकर मेरे बारे में’ दिये बयान पर.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘हां, मैं इटली में पैदा हुई थी. मैं 1968 में इंदिरा गांधी की बहू के तौर पर भारत आई थी. मैंने भारत में अपनी जिंदगी के 48 साल बिताए हैं. यही मेरा घर है. यही मेरा देश है.’ शुक्रवार को तमिलनाडु और रविवार को केरल में मोदी की ओर से दो चुनावी रैलियों में किए गए हमले के जवाब में उन्होंने यह भावपूर्ण अभिव्यक्ति की.

सोनिया ने कहा कि भारत में बिताए गए इन 48 सालों में आरएसएस, भाजपा और कुछ अन्य पार्टियों ने ‘हमेशा मेरी पैदाइश पर मुझे शर्मिंदा करने की नीयत से मुझे ताने मारे.’

उन्होंने कहा, ‘मैं गर्वीले और ईमानदार माता-पिता की संतान हूं. मैं उन पर कभी शर्मिंदा नहीं होने वाली. हां, मेरे रिश्तेदार इटली में रहते हैं.

मेरी मां 93 साल की हैं और मेरी दो बहनें हैं. लेकिन यहां, मेरे देश भारत में, इस हिस्से में मेरे प्रियजनों का खून समाया हुआ है.’

सोनिया ने कहा, ‘मैं यहीं अपनी आखिरी सांसें लूंगी. यहीं आपके और मेरे प्रियजनों के साथ मेरी अस्थियां घुलमिल जाएंगी.’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का एकमात्र मकसद ‘अपने विरोधियों का चरित्र हनन करना और झूठी बातें फैलाना है.’
सोनिया ने कहा कि ‘मेरी निष्ठा को चुनौती देने के लिए’’ प्रधानमंत्री मोदी ‘‘किसी भी हद तक गिर सकते हैं. लेकिन भारत के लिए मेरे समर्पण और प्रेम से वह सच को दबा नहीं सकते.’

 

केरल में अपने चुनाव प्रचार के पहले दिन दूसरी रैली में उन्होंने कहा, ‘मैं भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से यह उम्मीद नहीं कर सकती कि वह इन अहसासों को समझेंगे. लेकिन मैं जानती हूं कि आप ये जरूर समझेंगे.’

कांग्रेस या पार्टी के किसी नेता का नाम लिए बगैर मोदी ने पूछा था, ‘यदि इटली की अदालत ने कहा है कि भारत की पिछली सरकार के लोगों ने पैसे खाए हैं, तो आप हमें यहां क्यों परेशान कर रहे हैं?’

मोदी ने कहा था, ‘क्या आपका कोई रिश्तेदार इटली में रहता है? क्या मेरा कोई रिश्तेदार इटली में रहता है…मैंने इटली नहीं देखा है. मैं कभी इटली गया भी नहीं हूं. न ही मैंने इटली में किसी से मुलाकात की है. यदि इटली के लोगों ने उन पर आरोप लगाए हैं तो हम क्या कर सकते हैं?’

मोदी पर हमला जारी रखते हुए सोनिया ने कहा कि भाजपा-एनडीए डरे हुए हैं क्योंकि कांग्रेस अल्पसंख्यकों, गरीबों, किसानों, दलितों, आदिवासियों और महिलाओं के अधिकारों की लड़ाई लड़ती है.

केरल पर हर मामले में पिछड़ने के मोदी के आरोप पर सोनिया ने कहा, ‘मैं उन्हें कम से कम एक भाजपा शासित राज्य दिखाने की चुनौती देती हूं जहां केरल से बेहतर स्वास्थ्य, शैक्षणिक उपलब्धियां हासिल की गई हों.’

सोनिया ने यह आरोप भी लगाया कि चुनाव प्रचार के दौरान किए गए वादों में से एक को भी पूरा न करके मोदी ने जनादेश से धोखा किया है.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘चुनावों से पहले उन्होंने आपकी उम्मीदों और वादों को बेचकर वोट लिए । प्रधानमंत्री बनते ही, उन्होंने आपके जनादेश को धता बता दिया.’

उन्होंने कहा कि मोदी ने ‘लाखों-लाख नौकरियों और आपके बैंक खातों में पैसों के वादे किए थे और कहा था कि वह जरूरी चीजों की कीमतों में कमी ला देंगे. लेकिन इनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया गया है.’

सोनिया ने कहा, ‘दो साल में दाल की कीमतें दोगुनी हो गई हैं. भाजपा सरकार का सबसे बड़ा राजस्व हासिल करने का सोत ये है कि गरीबों पर कर लगा दो. पेट्रोल और डीजल की कीमतों में काफी कमी आई है, लेकिन इस पर लगाए जा रहे उत्पाद शुल्क में कोई कमी नहीं आई है.’

कर्ज से दबे उद्योगपति विजय माल्या के भारत छोड़कर चले जाने के मुद्दे पर सोनिया ने कहा, ‘बैंकों को हजारों करोड़ रूपए का चूना लगाने वाले अमीर कारोबारियों को प्रधानमंत्री मोदी के नाक के नीचे देश से बाहर जाने दिया गया.’

सोनिया ने कहा कि भाजपा और आरएसएस कांग्रेस से डरे हुए हैं क्योंकि ‘हमने उनके सांप्रदायिक और विभाजनकारी एजेंडे की पोल खोल दी है.’
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘लेकिन हम उनके दबाव और प्रताड़ना के आगे घुटने नहीं टेकने वाले. हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे, जिसके बारे में हमारा मानना है कि यह देश के लिए अच्छा है.’

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>