2.5 लाख रुपए कैश निकालने के लिए शादीशुदा बेटे का दुबारा छपवाया शादी का कार्ड

Nov 25, 2016
2.5 लाख रुपए कैश निकालने के लिए शादीशुदा बेटे का दुबारा छपवाया शादी का कार्ड

नोटबंदी के बाद से आज कल बैंक और एटीएम के बाहर आम जनता से ज्यादा पत्रकारों की भीड़ है। ऐसे ही एक झूठी खबर कानपूर कि पत्रकारों ने फैलाई। कानपुर के रेलवे कॉलोनी में रहने वाले परिमल चौरसिया को कल एस.बी.आई की ब्रांच से धक्के मार कर बाहर निकाल दिया गया। बैंक के बाहर ही खड़े पत्रकार ने तुरंत खबर बनायीं की ‘नोट बदलने आया 55 वर्षीय बुज़ुर्ग, 5 घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद गार्ड ने धक्के मार कर निकाला बाहर, फिर क्या ये यह खबर तुरंत ही सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गई।

कुछ ही देर में जब एक बैंक के कर्मचारी को इसकी खबर लगी तो उसने पूरा माजरा बताया। कर्मचारी ने मीडिया को बताया कि ‘चौरसिया जी को धक्के मार के इसलिए बाहर निकाला गया क्योंकि चौरसिया जी जिस बेटे की शादी का कार्ड लेकर आए थे उस बेटे की शादी पहले ही हो चुकी है। जब इस बारे में चौरसिया जी से पूछा गया तो उन्होंने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। इसका मतलब साफ़ है की खबर झूठी है।

जब चौरसिया जी बैंक के काउंटर पर पहुँचते ही उन्होनें शादी का कार्ड दिखाया उनके पीछे खड़े उनके पड़ोसी धीरज पांडे ने पूछा चौरसिया जी सुकेश दुबारा शादी कर रहा है क्या बस इतना सुनते ही कैशियर के कान खड़े हो गए। हमें इशारा कर कोने में बुलाया और पूछा कि चौरसिया जी के यहां सच में शादी है या यूं ही बस। धीरज पांडे ने बताया की चौरसिया जी के इकलौते लड़के की तो इसी साल जनवरी में शादी हुई थी। बस फिर क्या था कैशियर ने गुस्से में गार्ड को बुलाया और कहा कि इनको बाहर निकालो। चौरसिया जी मुझे घूर घूर कर देख रहे थे पहले ही बता देते कि क्या प्लान है आखिर पड़ोसी ही पड़ोसी के काम आता है। चौरसिया जी ने अपने बेटे की शादी का एक नया कार्ड अगले महीने की तारीख पर बनवाया और उसे दिखाकर 2.5 लाख रुपए निकालने की योजना बना रहे थे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>