छह साल की बच्ची ने अपने इलाज के लिए PM मोदी को लिखा पत्र

Jun 08, 2016

महाराष्ट्र में पुणे के हड़पसर में छह साल की एक बच्ची वैशाली ने अपने इलाज के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा. जिसके बाद उसकी फ्री में हार्ट सर्जरी की गई.

प्रधानमंत्री को लेटर लिखने के पांच दिन बाद प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से जवाब आया. पीएमओ ने डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर को लेटर लिखकर बच्ची की मदद करने को कहा. जिसके हाद उसके हार्ट की फ्री सर्जरी की गई. बच्ची के हार्ट में छेद था. उसके पिता मोनीष यादव पुताई  का काम करते हैं. घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण वह ऑपरेशन के लिए पैसे नहीं जुटा पा रहे थे.

दो साल पहले वैशाली स्कूल में अचानक बेहोश होकर गिर गई थी. अस्पताल ले जाने पर डॉक्टर ने बताया कि उसके दिल में छेद है और ऑपरेशन करना जरुरी है.
वैशाली के पिता और चाचा ने उसके इलाज के लिए कई एनजीओ और राजनीतिक पार्टियों से मदद के लिए गुहार लगाई लेकिन कहीं से कोई मदद नहीं मिली.

 

20 मई को वैशाली ने पीएम मोदी को पत्र लिखा. इसके साथ उसने अपनी स्कूल की आईडी और मोबाइल नंबर भी दिया था. 27 मई को पीएमओ ने पुणे के कलेक्टर सौरभ राव को इस बच्ची के इलाज को लेकर आदेश दिया.
इसके बाद प्रशासन के अधिकारी वैशाली के घर गए लेकिन उन्हें उसका पता नहीं चला. बाद में उसके स्कूल गए और वहां से उसका पता चला. वैशाली की औंध स्थित जिला सरकारी अस्पताल में जांच कराई गई. इसके बाद चार जून को रुबी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया. जहां उसका ऑपरेशन मंगलवार 7 जून को हुआ.
वैशाली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिली मदद पर खुशी जताई है और कहा कि मुझ जैसी एक आम बच्ची के लिए प्रधानमंत्री ने मदद दी इससे मुझे काफी खुशी हुई है.

मोदी इससे पहले भी इसी तरह की मदद कर चुके है. एक बार एक गरीब परिवार के लड़के ने अपनी बहनों की शादी के लिए प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखकर मदद की गुहार लगाई थी वही दूसरी ओर स्कूल जाने वाले एक छात्र ने पुल बनवाने के लिए पत्र लिखा था. इन दोनों स्थितियों में पीएमओ की ओर से मदद की गई थी.
 अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>