पाकिस्‍तान पहुंचे राजनाथ सिंह, आतंकी संगठनों ने किया विरोध प्रदर्शन

Aug 04, 2016

गृहमंत्री राजनाथ सिंह दक्षेस देशों के सम्‍मेलन में हिस्‍सा लेने के लिए इस्‍लामाबाद पहुंचे. उनके पहुंचने से पहले हिजबुल मुजाहिदीन के चीफ सैयद सलाउद्दीन के नेतृत्‍व में रैली निकालकर राजनाथ का विरोध किया गया.

इस्‍लामाबाद एयरपोर्ट पर राजनाथ सिंह का भव्य स्‍वागत किया गया जहां से वह सीधे आंतरिक मंत्रालय के अतिरिक्‍त सचिव आमीर अहमद से मिलने पहुंचे.

राजनाथ सिंह विशेष विमान से इस्‍लामाबाद पहुंचे जहां जमाद-उद-दावा प्रमुख हाफिज सईद की धमकी के बाद उनकी सुरक्षा के भारी इंतजाम किये गये. पाकिस्तान में राजनाथ को वहां के राष्ट्रपति स्तर की सुरक्षा दी गई है. उनकी सुरक्षा में 200 कमांडो को लगाया गया है.

हाफिज की धमकी पर भारत ने कहा था कि राजनाथ की सुरक्षा करना पाक सरकार की जिम्मेदारी है. पाकिस्तान के कई कट्टरपंथी गुटों और कश्मीरी संगठनों ने राजनाथ सिंह की इस्लामाबाद यात्रा का विरोध किया है.

बुधवार को हुर्रियत कान्फ्रेंस, हिजबुल मुजाहिदीन, यूनाइटेड जिहाद काउंसिल के दो हजार से अधिक कार्यकर्ताओं ने अलग-अलग जगहों पर प्रदर्शन किया. हिजबुल कमांडर सैयद सलाहुद्दीन भी स्थानीय नेताओं के साथ प्रदर्शन में शामिल हुआ.

बैठक के दौरान राजनाथ भारत के मोस्‍ट वांटेड आतंकी दाऊद इब्राहिम और सीमापार से आतंकवाद का मसला उठा सकते हैं. उनके साथ गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के कई अधिकारी बतौर प्रतिनिधिमंडल गए हैं. राजनाथ सिंह की यह पहली पाकिस्‍तान यात्रा है.

जम्मू कश्मीर में हिज्बुल मुजाहिद्दीन कमांडर बुरहान वानी के एक मुठभेड़ में मारे जाने के बाद हुई हिंसा में 50 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. भारत का आरोप है कि पाकिस्तान कश्मीर में हिंसा को बढ़ावा दे रहा है.

दो दिन तक चलने वाले सार्क सम्मेलन के इतर गृहमंत्री राजनाथ सिंह नवाज शरीफ सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों से भी मुलाकात करेंगे. राजनाथ सिंह वैसे तो सार्क देशों के गृहमंत्रियों के सम्मेलन में हिस्सा लेने गए हैं, लेकिन कश्मीर में हाल ही में हिज्बुल आतंकी बुरहान वानी के सफाए का मामला भी भारत उठा सकता है. गौरतलब है कि बुरहान वानी के समर्थन में पाकिस्तानी रुख की भारत सरकार ने कड़ी आलोचना की थी.

 

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>