सिमी कार्यकर्ता के वकील का दावा, जेलब्रेक है फर्ज़ी, CBI जांच होनी चाहिए

Nov 02, 2016
सिमी कार्यकर्ता के वकील का दावा, जेलब्रेक है फर्ज़ी, CBI जांच होनी चाहिए

भोपाल की सेंट्रल जेल से भागने के बाद मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा मुठभेड़ में मार गिराए सिमी के आठ कार्यकर्ता अंडर ट्रायल आरोपियों के वकील परवेज़ आलम का दावा है कि जेल से भागने की कहानी फर्ज़ी बनायीं गयी है। वकील आलम ने पुलिस के उस दावे पर सवाल खड़े किए हैं जिसमें प्रशासन ने कहा था कई ऊंची-ऊंची दीवारें चादर के सहारे फांदी ISO सर्टिफाइड कड़ी सुरक्षा वाली सेंट्रल जेल के दरवाज़ों में लगे ताले लकड़ी की चाबियों से खोल डाले।

वकील परवेज़ आलम ने कहा इन आठ लोग जो प्रतिबंधित सिमी से जुड़े थे इनके परिवार वाले मध्य प्रदेश हाईकोर्ट जाएंगे, और पुलिस द्वारा उन्हें मार गिराए जाने की सीबीआई से जांच की मांग करेंगे। परिवार का दावा है की सोच-समझकर की गई हत्या।

ये भी पढ़ें :-  मोदी अगर यूपी में बाहरी हैं तो सोनिया गांधी क्या हैं

वकील का कहना है की वीडियो में पुलिस और एटीएस वाले ही गोलियां चलाते दिख रहे हैं, इस बात का कोई सबूत नहीं है कि आरोपियों ने भी गोलियां चलाईं। और एक विडियो में एक पुलिस खुद कह रही है की उनके पास एक चम्मच था। कुछ वीडियो सामने आने के बाद राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने मध्य प्रदेश सरकार तथा राज्य पुलिस से स्पष्टीकरण मांगा है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected