जमीरुद्दीन शाह का कार्यकाल देख कर, सुप्रीम कोर्ट सख्त, पूछा- ‘अब तक एएमयू के कुलपति कैसे बने हुए हैं

Sep 20, 2016
जमीरुद्दीन शाह का कार्यकाल देख कर, सुप्रीम कोर्ट सख्त, पूछा- ‘अब तक एएमयू के कुलपति कैसे बने हुए हैं

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय(एएमयू) के उपकुलपति जमीरुद्दीन शाह की नियुक्ति पर सुप्रीम कोर्ट ने हैरानी जताई है। साथ ही प्रशासन को जमकर लताड़ भी लगाई। सोमवार को सुनवाई शुरु होते ही देश के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस टी.एस. ठाकुर ने हैरानी जताते हुए पूछा, ‘जनरल साहब अब तक उपकुलपति बने हुए हैं

इस पर मुख्य न्यायाधीश जस्टिस ठाकुर ने विश्वविद्यालय को जमकर लताड़ लगाते हुए कहा, ‘आप दो जगह गलत हैं। एक तो आप यूजीसी के रेग्यूलेशन को नहीं मान रहे। और फिर उसका अनादर भी कर रहे हैं। जब पूरा देश इस रेग्यूलेशन को मान रहा है तो आप क्यों नहीं। आप भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी हैं। कल आप किसी पुलिस अधिकारी को उपकुलपति बना देंगे’।

ये भी पढ़ें :-  अमित शाह धोखेबाज़ स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा- 30 सीटों का लालच देकर 3 सीट भी नहीं दिया

याचिकाकर्ता की तरफ से जिरह करते हुए वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि जमीरुद्दीन शाह न सिर्फ अपनी कुर्सी पर बने हुए हैं, बल्कि गैर-कानूनी नियुक्तियां कर रहे हैं। वो यूनिवर्सिटी के फंड से पैसा एक निजी ट्रस्ट को ट्रांसफर कर चुके हैं। भूषण ने कोर्ट को बताया की वीसी के वकील इस मामले को लंबा खींच रहे हैं, ताकि वो अपने कार्यकाल का बचा हुए एक साल पूरा कर लें।

एएमयू के तरफ से दलील दी जा रही है कि वो यूजीसी के रेग्यूलेशन को मानने के लिए बाध्य नहीं है जबकि यूजीसी का मानना इसके उलट है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

ये भी पढ़ें :-  बीजेपी नेता संगीत सोम के प्रचार वाहन से बरामद हुई विवादित सीडी, दर्ज हुआ केस
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected