अमित शाह ने मथुरा, कैराना की घटनाओं को लेकर सपा सरकार पर किया हमला

Jun 13, 2016

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने उत्तर प्रदेश में मथुरा और कैराना की हाल की घटनाओं को लेकर राज्य की समाजवादी पार्टी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि राज्य में हिंसा का वातावरण व्याप्त रहना गंभीर चिंता का विषय है.

शाह ने मथुरा में हाल में हुए टकराव के साथ ही कैराना में हिंसा एवं उसके बाद 100 से अधिक परिवारों के पलायन का उल्लेख करते हुए कहा, ‘‘वर्तमान समाजवादी सरकार प्रत्येक दिन ऐसी स्थितियों से निपटने में अपनी लाचारी व्यक्त कर रही है.’’
शाह ने अखिलेश यादव सरकार पर सीधा हमला करते हुए रविवार को इलाहाबाद में शुरू हुई भाजपा की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में कहा, ‘‘भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में विकास की कमी और शासन का अभाव बढ रहा है और यह एक गंभीर चिंता का मामला बन गया है.’’
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शाह के भाषण के बारे में संवाददाताओं को अवगत कराया. उन्होंने कहा कि भाजपा अध्यक्ष शाह ने विशेष तौर पर उत्तर प्रदेश के बारे में चर्चा की और कहा कि यहां ‘‘हिंसा का वातावरण है जिस पर काबू पाने में सरकार असफल रही है.’’
मथुरा में घटित हाल की घटनाओं पर शाह ने कहा कि सरकारी जमीन को ‘‘संरक्षण से’’ बलपूर्वक हथियाने की राजनीति ‘‘बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.’’
शाह ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना नगर से एक समुदाय के कथित पलायन का भी उल्लेख किया और कहा कि यह गंभीर चिंता का विषय है.
भाजपा अध्यक्ष शाह ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कड़ी मेहनत करने का आह्वान किया और प्रतिबद्धता जतायी कि विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा उत्तर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाएगी.
उन्होंने कहा कि 2017 चुनौतियों वाला वर्ष है जिसमें उत्तर प्रदेश के अलावा, उत्तराखंड, पंजाब, गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं.
शाह के भाषण के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही राजनाथ सिंह, अरूण जेटली जैसे वरिष्ठ मंत्रियों के अलावा पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारी भी मौजूद थे.
शाह ने अपने भाषण में केरल और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं के खिलाफ हुई चुनावी हिंसा की भी बात की. उन्होंने कहा, ‘‘लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है.’’ उन्होंने कहा कि पूरी भाजपा अपने उन कार्यकर्ताओं के साथ है जिन्होंने केरल में राजनीतिक हमलों का सामना किया.
शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि विकास के मार्ग में अवरोध पैदा करने की उसकी प्रवृत्ति तथा उसके कई नेताओं के उसका साथ छोड़ने के चलते पार्टी ‘‘तेजी से कमजोर’’ हो रही है.
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>