नक्सली विस्फोट में सात सीआरपीएफ जवान शहीद

Mar 31, 2016

बस्तर अंचल के दंतेवाड़ा इलाके में बुधवार को एक नक्सली विस्फोट में सात सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए, जबकि कई जवान घायल हो गए.

उधर, बीजापुर में भी एक अन्य घटना में दो जवान घायल हो गए जिन्हें हेलीकॉप्टर से रायपुर लाया गया है.

गृह मंत्री अजय चंद्राकर ने बताया कि सभी जवान नियमित गश्त पर थे. नक्सलियों ने उनके वाहन को लैंड माइन ब्लास्ट में उड़ा दिया. ये सातों जवान 230 बटालियन के हैं. विस्फोट के बाद जंगल में पेड़ की आड़ में छिपे नक्सलियों ने जवानों पर गोलीबारी भी की और उनके हथियार लूट ले गए. दंतेवाड़ा से 12 किलोमीटर दूर मैलावाड़-मोकपाल के पास कलारपारा गांव में यह घटना तब हुई जब दोपहर 2 बजे सीआरपीएफ 230 बटालियन के जवानों से भरे तीन वाहन कलारपारा से गुजर रहे थे.

धमाका इतना जबरदस्त था कि मौके पर एक विशाल गड्ढा बन गया और सीआरपीएफ की गाड़ी के परखच्चे उड़ गए. सड़क के बीचोबीच बिछाई गई बारूदी सुरंग की वजह से यह धमाका हुआ. घटना के बाद जवानों के शव दूर-दूर तक बिखरे नजर आए. बताया जाता है कि वाहन में तीस से अधिक जवान सवार थे और शहीदों की संख्या बढ़ सकती है.

एक अन्य घटना में बीजापुर जिले के सारकेगुडा इलाके में नक्सिलयों की ओर से किए गए आईईडी ब्लास्ट में सीआरपीएफ 111 बटालियन के गश्त के लिए निकले दो जवान घायल हो गए. बीजापुर जिला अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें हेलीकॉप्टर से रायपुर भेजा गया. मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने घटना की निंदा करते हुए सीआरपीएफ के सात जवानों की शहादत पर गहरा दुख व्यक्त किया है. डॉ. सिंह ने विधानसभा में इस नक्सल घटना का भी उल्लेख किया.

 

उन्होंने कहा कि चाहे सीआरपीएफ के जवान हों, चाहे भारत सीमा सुरक्षा बल, तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) या छत्तीसगढ़ पुलिस के जवान, ये सभी बस्तर में प्रजातंत्र को बचाने के लिए आए हैं. हमारे इन बहादुर जवानों ने अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए शहादत दी है.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>