शशिकला जेल में, एआईएडीएमके में सत्ता की जंग जारी

Feb 15, 2017
शशिकला जेल में, एआईएडीएमके में सत्ता की जंग जारी

आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) की महासचिव वी.के.शशिकला सजा भुगतने के लिए बुधवार को बेंगलुरू जेल पहुंच गईं, वहीं तमिलनाडु में एआईएडीएमके में सत्ता को लेकर संघर्ष जारी है। चेन्नई से कारों के एक काफिले के साथ बेंगुलुरु के केंद्रीय कारागार पहुंचने के तुरंत बाद शशिकला (59) को महिला सेल में बंद कर दिया गया।

जेल के एक अधिकारी ने पत्रकारों से कहा कि दिवंगत मुख्यमंत्री जे.जयललिता की लंबे वक्त तक विश्वासपात्र रहीं शशिकला को जेल में मोमबत्तियां बनाने का काम मिल सकता है।

आय से अधिक संपत्ति मामले में कर्नाटक की एक निचली अदालत द्वारा शशिकला को दोषी ठहराने के फैसले को सर्वोच्च न्यायालय द्वारा बरकरार रखने के एक दिन बाद शशिकला ने जेल में स्थापित निचली अदालत में अपने दो रिश्तेदारों एलावारसी तथा वी.एन.सुधाकरण के साथ समर्पण कर दिया।

मामले में एलावारसी तथा सुधाकरण भी दोषी ठहराए जा चुके हैं, जिन्हें जयललिता व शशिकला के साथ ही सितंबर 2014 में चार साल जेल की सजा सुनाई गई थी।

निचली अदालत द्वारा दोषी ठहराने के फैसले के बाद चारों को 27 सितंबर, 2014 को इसी जेल में तीन सप्ताह तक रखा गया था। उन्हें बाद में कर्नाटक उच्च न्यायालय से जमानत मिल गई थी।

सुरक्षा कारणों के मद्देनजर, जेल परिसर में ही सुबह के समय एक निचली अदालत लगाई गई।

शशिकला ने जेल की सजा भुगतने के लिए थोड़ा वक्त मांगा था, लेकिन न्यायाधीश ने इससे इनकार करते हुए जेल में दाखिल होने के लिए शाम छह बजे से पहले उन्हें स्वास्थ्य जांच कराने को कहा।

उधर, चेन्नई में राज्यपाल सी.विद्यासागर राव ने राज्य के कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम तथा शशिकला गुट के ई.पलानीसामी को बहुमत साबित करने के लिए आमंत्रण देने की तैयारी कर ली है।

बेंगलुरु की निचली अदालत के समक्ष समर्पण करने के लिए कर्नाटक रवाना होने से पहले शशिकला मरीना बीच स्थित दिवंगत जे.जयललिता के स्मारक पर पहुंचीं।

स्मारक को दाहिने हाथ से तीन बार छूते हुए शशिकला ने संकल्प लिया कि एआईएडीएमके के ‘दगाबाजों’ को हराने के बाद फिर से राजनीति में लौटेंगी।

बाद में शशिकला रामावरम स्थित एआईएडीएमके के संस्थापक एम.जी.रामचंद्रन के घर पहुंचीं और उनकी तस्वीर के सामने उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की तथा कुछ देर तक साधना की।

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा मंगलवार को शशिकला को दोषी ठहराए जाने के बाद उनका समर्थन करने वाले रिसॉर्ट में ठहरे विधायकों ने पलानीसामी को विधायक दल का नया नेता चुना है।

वहीं, कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने बुधवार को पार्टी के 135 में से लगभग 40 विधायकों का समर्थन होने का दावा किया, जबकि पलानीसामी ने कहा कि सरकार के गठन के लिए उनके पास विधायकों का पर्याप्त आंकड़ा मौजूद है।

इस बीच, मदुरै दक्षिण विधासभा क्षेत्र से विधायक एस.एस.सरवनन ने शशिकला तथा लोक निर्माण मंत्री पलानीसामी के खिलाफ अपहरण की शिकायत दर्ज कराई है।

सरवनन ने कार्यवाहक मुख्यमंत्री ओ.पन्नीरसेल्वम का समर्थन करते हुए यहां संवाददाताओं से कहा कि वह यहां से 90 किलोमीटर दूर कूवाथुर में रिसॉर्ट की दीवार फांदकर भाग निकले। उन्होंने आरोप लगाया है कि उन्हें उनकी मर्जी के खिलाफ वहां रखा गया था।

शिकायत के बाद सैकड़ों की तादाद में पुलिसकर्मी उस रिसॉर्ट में पहुंच गए। इस रिसॉर्ट में शशिकला के समर्थक विधायकों को पिछले कई दिनों से रखा गया है।

एआईएडीएमके के विधायक इंबादुरई ने संवाददाताओं से कहा, “सरवनन की शिकायत बेबुनियाद है। उन्होंने कुछ दिन पहले खुद पुलिस से कहा था कि वह अपनी मर्जी से रिसॉर्ट में रह रहे हैं।”

रिसॉर्ट में मौजूद विधायकों ने अपना फोन बंद कर रखा है, जबकि कुछ विधायक मीडिया द्वारा फोन करने पर या तो फोन काट दे रहे हैं या उनका जवाब नहीं दे रहे हैं।

एआईएडीएमके के एक विधायक थेनारासू ने संवाददाताओं से कहा कि अगर उनके नेता को राज्यपाल सरकार गठन के लिए आमंत्रित करते हैं, तो विधायक रिसॉर्ट खाली कर देंगे।

उन्होंने कहा कि अगर पलनीसामी उन्हें ऐसा करने के लिए कहते हैं, तो भी विधायक रिसॉर्ट खाली कर देंगे।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>