खुले में शौच जाना परिवार को पड़ा महंगा, सरपंच ने लगाया 75 हजार का जुर्माना

Sep 19, 2017
खुले में शौच जाना परिवार को पड़ा महंगा, सरपंच ने लगाया 75 हजार का जुर्माना

खुले में शौच को रोकने के लिए मध्यप्रदेश में तरह-तरह के तरीके अपनाये जा रहे हैं। इसी लिए कहीं शिक्षक निलंबित हो रहा है तो कहीं पत्नी के खुले में शौच की सजा उसके पति को भुकतना पड़ रहा है। इन दिनों एक ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां ग्राम पंचायत ने खुले में शौच जाने वाले एक परिवार पर 75 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है।

बता दें कि मिली जानकारी के अनुसार ये मामला मध्यप्रदेश के बैतूल जिले का है। यहाँ ग्राम पंचायत रंभाखेड़ी में कुंवरलाल साहू के परिवार में कुल दस लोग रहते हैं। यह परिवार खुले में शौच करता था, जहाँ पंचायत ने इनको कई बार खुले में शौच न करने की हिदायत बह दी। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने खुले में शौच जाना बंद नहीं किया। तो पंचायत की सरपंच रामरती बाई और रोजगार सहायक कुंवरलाल ने इस परिवार पर प्रति व्यक्ति 250 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से जोड़कर एक माह का 75 हजार रुपये जुर्माना का नोटिस दे दिया है।

ये भी पढ़ें :-  आरएसएस न होता तो हम 'वंदे मातरम' के बारे में नहीं जान पाते: योगी आदित्यनाथ

संवाददाताओं से सरपंच रामरती बाई ने सोमवार को बात करते हुए बताया कि ‘इनको बार-बार हिदायत देने के बावजूद इन्होंने खुले में शौच जाना बंद नहीं किया। जिसके बाद पंचायत ने इन पर जुर्माना लगाकर नोटिस देने की कार्रवाई की है।’ रोजगार सहायक कुंवर लाल के अनुसार, ‘एक माह पूर्व हिदायत दी गई, जिसे लोगों ने नहीं माना, परिणामस्वरूप एक परिवार पर 75 हजार रुपये और अन्य 43 ग्रामीणों पर भी अलग-अलग जुर्माना किया गया है। उन्हें नोटिस दे दिए गए हैं।’

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले अशोकनगर जिले में भी एक शिक्षक को खुले में शौच जाने पर निलंबित किया गया था, और एक दूसरे शिक्षक को सिर्फ इसलिए निलंबित कर दिया गया, क्योंकि उसकी पत्नी खुले में शौच गई थी।

ये भी पढ़ें :-  ये क्या.......? बिहार शिक्षा विभाग के प्रश्नपत्र में कश्मीर अलग 'देश'!
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>