RSS-मोहन भागवत के कार्यक्रम के लिए कालेजों से मांगे जा रहे हैं 50-50 हज़ार रुपये

Aug 12, 2016

आगरा में होने वाले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के चार दिवसीय कार्यक्रम से पहले ही इस पर विवादों के बादल मंडराने लगे हैं। इस कार्यक्रम में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत आगरा, अलीगढ़ और बरेली क्षेत्र के दो हजार से ज्यादा शिक्षकों और प्रोफेसरों को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम में काफी संख्या में शै‌क्षिक संस्‍थाओं से जुड़े लोग शामिल होंगे।
इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार विवाद तब शुरू हुआ जब सेल्फ फाइनेंस कालेज एसोसिएशन ऑफ आगरा (SFCAA) से जुड़े और भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी से मान्यता प्राप्त डिग्री कालेजों के मैनेजरों को विश्वविद्यालय के चीफ प्रॉक्टर की ओर से इस कार्यक्रम के लिए 51 हजार रुपये जमा कराने के लिए कहा गया।
आरोप है कि चीफ प्रॉक्टर मनोज श्रीवास्तव जो 20 से 23 अगस्त तक होने वाले आरएसएस के

कार्यक्रम “विश्वविद्यालयी एवं महाविद्यालयी शैक्षिक सम्मेलन” के इंचार्ज भी हैं वो डिग्री कालेजों पर जबरन पैसे देने का दबाव बना रहे हैं। विश्वविद्यालय के अधीन आगरा और अलीगढ़ डिवीजन में 250 के करीब कालेज आते हैं।
एसोसिएशन के महासचिव आशुतोष पचौरी ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में शिकायत करने के लिए विश्वविद्यालय के कुलपति से समय मांगा था लेकिन उन्हें समय नहीं दिया गया। इस संबंध में एसोसिएशन के सदस्य जिलाधिकारी से मुलाकात करेंगे और राज्य के मुख्य सचिव से भी इस संबंध में शिकायत की जाएगी।
सेल्फ फाइनेंस कालेजों की एसोसिएशन ने लगाया आरोप
उन्होंने बताया कि उन्हें कई कालेजों के संचालकों से इस संबंध में शिकायत मिली है कि चीफ प्रॉक्टर मनोज श्रीवास्तव ने बुलाया और आरएसएस के कार्यक्रम के लिए जबरन 51 हजार रुपये जमा कराने को कहा गया।
मैं भागवत और उनके कार्यक्रम के खिलाफ नहीं हूं, लेकिन विश्वविद्यालय के एक वरिष्‍ठ अधिकारी के द्वारा इस तरह कार्य करना और जबरन दबाव बनाना सही नहीं है। पचौरी ने कहा अगर वह कालेजों का भगवाकरण या उनका शोषण करना चाहते हैं तो यह बर्दाश्त नहीं होगा।
वहीं, एसोसिएशन के अध्यक्ष ब्रजेश चौधरी ने कहा कि उनसे भी आरएसएस के कार्यक्रम के लिए पैसे जमा कराने को कहा गया है। उन्होंने आरोप कि चीफ प्रॉक्टर श्रीवास्तव ने उन्हें धमकी दी है कि यदि उन्होंने कार्यक्रम के लिए पैसे जमा नहीं कराए तो कालेज की मान्यता रद कर दी जाएगी।
चीफ प्रॉक्टर ने कहा दबाव बनाने के लिए लगा रहे आरोप
वहीं जब इस संबंध में चीफ प्रॉक्टर श्रीवास्तव से बात की तो उनका कहना था कि एसोसिएशन के लोग उनके खिलाफ निजी खुन्नस निकाल रहे हैं। निजी कालेज अपने यहां हुए प्रैक्टिकल के अंक जमा कराने को तैयार नहीं हैं। जब मैंने उन्हें सीधे सीधे कहा कि जब तक प्रैक्टिकल के अंक जमा नहीं कराते तब तक उन कालेजों का रिजल्ट जारी नहीं किया जाएगा तो उन्होंने दबाव बनाने के लिए मुझ पर झूठे आरोप लगाने शुरू कर दिए।
वहीं विश्वविद्यालय के कुलपति मोहम्मद मुजम्मिल से बातचीत नहीं हो सकी। दूसरी ओर इस संबंध में आरएसएस के ब्रज प्रांत प्रचार प्रमुख प्रदीप से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनकी ओर से कार्यक्रम में पंजीकरण के लिए मात्र 100 रुपये का चार्ज रखा गया है।
आरएसएस कभी किसी से पैसे जमा करने के लिए नहीं कहता है। यह 100 रुपये भी कार्यक्रम के आयोजन की व्यवस्‍था के लिए लिए जा रहे हैं। वहीं श्रीवास्तव के खिलाफ लगे आरोप काफी गंभीर हैं हम इस संबंध में जांच कराएंगे।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>