20 रूपए देने के चक्कर में चली गई मासूम की जान

Aug 10, 2016
बहराइच।  बहराइच निवासी सुमिता का 10 महीने का बेटा कई दिनों से बीमार चल रहा था. 7 अगस्त को सुमिता अपने बेटे को लेकर जिला अस्पताल पहुंची. डॉक्टर ने बताया की बच्चे के अन्दर खून की कमी है इसलिए बच्चे को भर्ती करना पड़ेगा. सोमवार को बच्चे की हालात ख़राब हुई तो सुमिता ने वार्ड में मौजूद अस्पताल कर्मी को बच्चे को देखने के लिए कहा।
सुमिता के अनुसार बच्चे को एक इंजेक्शन लगना था. लेकिन अस्पताल कर्मी ने इंजेक्शन लगाने के एवज में 20 रूपए की मांग की. सुमिता के पास 20 रूपए नही थे इसलिए उसने अस्पताल कर्मी को पैसे सुबह देने की बात कही. लाख मिन्नतें करने के बाद भी अस्पताल कर्मी का दिल नही पसीजा. उसने सुमिता को कहा की अगर पैसे सुबह मिलेंगे तो इंजेक्शन भी सुबह ही लगेगा।
समय पर इंजेक्शन नही लगने की वजह से मासूम की मौत हो गयी. मौत का पता लगने पर बच्चे के परिजनों ने जिला अस्पताल पर घूसखोरी का आरोप लगाते हुए सड़क जाम कर दी. कुछ देर बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर परिजनों को समझाया और जाम को खुलवाया गया. उधर जिला अस्पताल ने सफाई देते हुए कहा की अस्पताल कर्मी संविदा पर सफाई कर्मी रखा गया था. वो कैसे वार्ड में पहुंचा इसकी जांच की जायेगी. फ़िलहाल कर्मचारी को उसके पद से हटा दिया गया है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
ये भी पढ़ें :-  नोटबंदी से देश को हुआ बड़ा नुकसान, IMF ने घटाया भारत का ग्रोथ अनुमान
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected