रियो ओलंपिक: करोगे सेल्यूट, 18 साल की युसरा मार्दिनी की कहानी है बेहद गजब

Aug 10, 2016
सीरिया की स्वीमर युसरा रियो में रिफ्युजी ओलंपिक एथलीट टीम को रिप्रेजेंट कर रही हैं। इसमें 100 मीटर की स्वीमिंग रेस की पहली पारी जीत गईं, लेकिन सेमी फाइनल में जगह नहीं बना पाईं। सेमी फाइनल के पहले हुई तैराकी के मुकाबले में दूसरी टीम ने उन्हें मात दे दी, उनसे ज्यादा स्कोर कर। लेकिन उनकी तैराकी की कुशलता को देख सभी भौचक्के रह गए।
उन्होंने पहली बारी में ही तय समय से कम समय में जीत दर्ज कर ली थी, जिसे दूसरी टीम ने दूसरी पारी में तोड़ दिया। युसरा की कहानी सुनकर आपको जरूर कुछ सीख मिलेगी।  स्वीमर युसरा सीरिया की जानी मानी स्वीमर थीं, जिन्होंने 2012 में हुई फिना वर्ल्ड कप में सीरिया को रिप्रेजेंट किया था। सीरिया में हुए सीविल वार में युसरा ने अपना घर खो दिया था। जिसके बाद अगस्त 2015 में इन्होंने अपनी बहन के साथ सीरिया छोड़ने का फैसला लिया।
इस दौरान ग्रीस जाने के लिए ये लोग एक बोट में सवार हुए जिसकी कैपेसिटी सिर्फ छह लोगों को लेकर चलने की थी, लेकिन उसमें 20 लोग सवार हुए। बोट लेबनान और टर्की से होते हुए ग्रीस के लिए निकल पड़ी। तभी अचानक से बोट की मोटर बीच में ही खराब हो गई और बोट बीच में ही डूब गई।
उस दौरान सिर्फ युसरा और उनकी बहन को स्वीमिंग आती थी। दोनों बहनों ने अपने हुनर के चलते 18 लोगों से भरी बोट को 3 घंटे खींचते हुए लेसबास आइलैंड तक पहुंचाया। ऐसे में उन्होंने 20 लोगों की जान बचाई बिना अपनी जान की परवाह किए।
वर्तमान में वे अपनी बहन और पैरेंट्स के साथ जर्मनी में रह रहीं हैं। रियो ओलंपिक्स का नाम इन दिनों सबकी जुबान पर चढ़ा हुआ है।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>