रियो ओलंपिक, इन एथलीटों की हार थी जीत से बड़ी

Aug 18, 2016

लंदन: अमरीका और न्यूजीलैंड की दो एथलीटों ने रियो ओलंपिक में 5,000 मीटर की दौड़ में सद्भावना का ऐसा नजारा पेश किया कि दुनिया वाह-वाह कर उठी। इस रेस में भले ही ये दोनों अंतिम दो स्थानों पर रहींं, लेकिन खेलभावना दिखाने का इनाम उन्हें मिला और वे फाइनल में पहुंच गईं।

2016_8image_14_07_58951633531-ll

हारकर भी जीत गईं ये दो एथलीट्स
न्यूजीलैंड की धावक निक्की हैम्बलिन और अमरीका के एबे डी अगोस्टीनो महिलाओं की 5000 मीटर स्पर्धा के दौरान शुरुआत में ही आपस में टकराकर गिर पड़ीं और उन्हें गंभीर चोटें आईं। गिरने के बाद दोनों ही खिलाडिय़ों ने एकदूसरे को सहारा दिया और रेस पूरा करने के लिए एक-दूजे को प्रेरित भी किया। एड़ी में लगी गंभीर चोट के बावजूद अगोस्टीनो ने हार नहीं मानी और लंगड़ाते हुए दौड़ती रहीं जबकि हैम्बलिन उनका साथ दे रही थीं। ओलम्पिक पदक जीतने की सारी संभावना से दूर यह दोनों खिलाड़ी एक दूसरे की मदद करते हुए फिनिश लाइन पर पहुंचीं। दौड़ पूरी करने के बाद अगोस्टीनो को व्हीलचेयर पर ले जाया गया।

सोशल मीडिया पर छा गई यह खिलाड़ी
इस नजारे ने वहां मौजूद दर्शकों और दुनिया भर में टेलिविजन पर इस रेस को देख रहे लोगों का दिल जीत लिया। ओलंपिक में ऐसी खेल भावना की मिसाल बहुत कम मिलती है। लोगों ने इन दोनों महिलाओं की एकदूसरे की मदद के लिए दिखाई गई खेल भावना की सोशल मीडिया पर जमकर तारीफ की। हालांकि इन एथलीटों की टीमों के विरोध के बाद इन्हें शुक्रवार को होने वाले फाइनल में जगह दे दी गई है लेकिन ये स्पष्ट नहीं हो पाया है कि ये दोनों उस मुकाबले के लिए फिट हो पाएंगी की नहीं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>