अमीर लोग अपने तकिए के नीचे काला धन नहीं रखते: पूर्व RBI डिप्टी गवर्नर

Nov 24, 2016
अमीर लोग अपने तकिए के नीचे काला धन नहीं रखते: पूर्व RBI डिप्टी गवर्नर

नोटबंदी पर जहाँ विपक्षी पार्टिया मोदी सरकार पर हमला बोल रही थी। वही अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के पूर्व डिप्टी गवर्नर केसी चक्रवर्ती ने नोटबंदी की आलोचना करते हुए कहा कि नोटबंदी ब्लैकमनी की समस्या का हल नहीं हैं। इस बारें में यूपीए सरकार के दौरान भी विचार किया गया था लेकिन फिर इसे लागू न करने का फैसला लिया गया। क्यूँकि इस तरह नोटबंदी से काले धन पर लगाम नहीं लग सकती।

केसी चक्रवर्ती ने कहा कि करीब 17 लाख करोड़ रुपए की रकम काला धन नहीं है। अगर यह पैसा उन लोगों के हाथ में जाता है जो टैक्स नहीं देते, तब यह ब्लैक मनी हो जाता है और यदि यह उन लोगों के हाथ में जाता है जो टैक्स देते हैं। तब यह काला धन नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार नोटबंदी के फैसलो से बस नोट को खत्म कर रही है। उन्हें नहीं पकड़ रहे है जो टैक्स नहीं दे रहे है। इसके लिए हमारे पास आईटी विभाग है लेकिन वे तो अपना काम कर ही नहीं रहे हैं। गरीब नकदी की बचत करता है। वे अमीर जो टैक्स नहीं देते अपने तकिए के नीचे काला धन नहीं रखते हैं। उन्होंने कहा कि अमीर लोग ब्लैक मनी काफी तेजी से यहां से वहां ‘मूव’ करते है। किस तरीके से पैसे को काले धन में बदला जाता है वह आईडिया अभी पकड़ में नहीं आई है। हम उनको नहीं पकड़ रहे है जो टैक्स नहीं दे रहे। नोटबंदी से आप कॉस्ट बढ़ा रहे हैं और आम आदमी के अधिकार छीन रहे हैं।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>