रिपोर्ट में हुआ खुलासा- गौमांस की तस्करी में बीजेपी सरकार सबसे आगे

Jan 05, 2018
रिपोर्ट में हुआ खुलासा- गौमांस की तस्करी में बीजेपी सरकार सबसे आगे

ये बात तो हर किसी को पता है कि किस तरह से देश की जनता को भाजपा बेवकूफ बनाने का काम कर रही है क्योंकि एक तरफ भाजपा गोमांस को लेकर पूरा विरोध करती है। लेकिन अंदर ही अंदर चोरी-छिपके से गोमांस की तस्करी भी कोई और नहीं बल्कि यही भाजपा करती है जिसका सुबूत ये रिपोर्ट दे रहे हैं।

बता दें कि गौमांस व्यापर पर बंदी की बात करनी वाली भाजपा खुद गौमांस व्यापर में आगे है। सबसे हैरानी की बात तो ये है कि सबसे जिस देश को ये गौमांस एक्सपोर्ट करती है वो कोई और नहीं बल्कि पाकिस्तान है। क्योंकि वाणिज्यिक खुफिया और सांख्यिकी (डीजीसीआईएस) निदेशालय और वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के मुताबिक उत्तर प्रदेश सरकार ने 2 लाख 66 हज़ार 700 किलोग्राम के गौमांस के निर्यात को मंज़ूरी दी है। इतना ही नहीं बल्कि अप्रैल 2017 से लेकर सितम्बर 2017 के बीच भारत ने पाकिस्तान को 5 हज़ार 12 टन गौमांस निर्यात(एक्सपोर्ट) किया है। जिसके लिए उन्होंने 11 हज़ार 93 गायों को काटा है। जिसमें से सिर्फ उत्तर प्रदेश में ही 7,018 गायों को काटा गया है।

रिपोर्ट की मानें तो पाकिस्तान को जो गौमांस निर्यात(एक्सपोर्ट) किया गया है। उसमें से 91% उत्तरप्रदेश और महाराष्ट्र ने निर्यात किया है। जहाँ इन दोनों राज्यों में किसी और की नहीं बल्कि खुद भाजपा की ही सरकारें हैं। शायद एहि वजह है कि इसी व्यापार के चलते केंद्र की मोदी सरकार ने अभी तक पाकिस्तान को दिया गया ‘मोस्ट फेवर्ड नेशन’ का दर्जा वापस नहीं लिया है।

इतना ही नहीं इस में चौकाने वाली बात तो ये है कि भाजपा गौमांस का व्यापार करने वाली कंपनियों से चंदा भी ख़ुशी-ख़ुशी लेती है। क्योंकि साल 2014 लोकसभा चुनाव में गौमांस व्यापर करने वाली इन तीन बड़ी कंपनियों से भाजपा ने चंदा लिया था। जिसमें फ्राइगरिफोरो अल्लाना लिमिटेड, फ्रिजेरिओ कनवेर्वा अल्लाना लिमिटेड और इंडग्रो फूड्स लिमिटेड जैसी कंपनियां शामिल हैं जिस से भाजपा ने दो करोड़ का चंदा दिया था। ये तीनों कम्पनियाँ अल्लानासंस की हैं। जिसे वाणिजय मंत्रालय़ ने ‘प्रिमियम ट्रेडिंग हाउस’ का दर्जा दिया हुआ है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>