रिसर्च: असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत हैं

Jan 10, 2018
रिसर्च: असमय बालों का सफेद होना दिल की कमजोरी का संकेत हैं

उम्र होने से पहले ही बालों का सफेद होने कमजोर दिल की निशानी होती है। शोधकर्ताओं ने एक नए अध्ययन में इस का खुलसा किया है कि जिन पुरुषों के बाल उम्र से पहले ही सफेद होने लगते हैं। उन्हें दिल की बीमारी की चपेट में आने का खतरा सामान्य पुरुषों के मुकाबले अधिक होता है।

बता दें कि नए अध्ययन में कहा गया है कि धमनियों की आंतरिक दीवारों पर वसा के जमाव और बालों के सफेद होने की जैविक प्रक्रिया में काफी समानताएं होती हैं। उम्र बढ़ने के साथ साथ ही दोनों में बढ़ोतरी होती है। और बिगड़ा हुआ डीएनए, दाहक तनाव, सूजन, हार्मोन संबंधी परिवर्तन और कार्यशील कोशिकाओं में उम्रदराजी के लक्षण जैसी चीजें इन प्रक्रियाओं में समान रूप से मौजूद रहती हैं।

आगे उन्होंने कहा कि, धमनियों में सख्ती (आर्टरिओस्क्लेरोसिस) का एक चरण ऐसा भी होता है जिसमें धमनियों की आंतरिक दीवारों पर वसा जमने लगती है। इस चरण को एथेरोस्केलेरोसिस कहते हैं। इससे धमनियों में रक्त प्रवाह का मार्ग संकरा हो जाता है। इस पर मिस्र की काहिरा यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं सैकड़ों वयस्क लोगों का अध्ययन करने के बाद यह नतीजा निकाला है। इन सभी प्रतिभागियों की धमनियों की अंदरुनी स्थिति की सीटी कोरोनरी एंजियोग्राफी तकनीक के जरिये जांच की गई थी। ताकि यह पता लग सके कि इन्हें दिल की बीमारी तो नहीं है अथवा इनके दिल की प्रमुख रक्त वाहिनियों में कोई क्षतिग्रस्त तो नहीं हैं।

कई तरीके से टेस्ट करने के बाद पता ये चला कि जिन लोगों के बाद ज्यादा सफेद हो रहे थे उनमें दिल की बीमारी का खतरा ज्यादा था। उम्र और दिल की बीमारी से जुड़े कारकों का इसमें अलग से कोई प्रभाव नहीं था। इतना ही नहीं बल्कि शोधकर्ताओं ने ये भी बताया कि उनके शोध से पता चला कि वास्तविक उम्र कम होने के बावजूद बालों में सफेदी व्यक्ति की बढ़ी हुई जैविक उम्र को बयान करती है। इसी लिए यह दिल की बीमारी की चेतावनी का संकेत हो सकता।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>