रिपोर्ट: UP सांप्रदायिक हिंसा के मामले में सबसे आगे, 2017 में नफ़रत ने ली है 16 जानें

Aug 09, 2017
रिपोर्ट: UP सांप्रदायिक हिंसा के मामले में सबसे आगे, 2017 में नफ़रत ने ली है 16 जानें

साल 2017 में देशभर में हुए सांप्रदायिक हिंसा के मामलों के आंकड़े को केंद्रीय ग्रह मत्रांलय ने जारी किए हैं। इन आंकड़ों के अनुसार, इस साल देशभर में अबतक 296 सांप्रदायिक घटनाओं घटी हैं। जिस में 44 लोगों को अपनी ज़िन्दगी से हाथ धोना पड़ा है जबकि 892 लोग घायल हुए हैं।

बता दें कि केंद्र सरकार ये दावा कर रही है कि भारत में पिछले साल हुए सांप्रदायिक हिंसा के मुक़ाबले इस साल इस आंकड़े में कमी आई है। अगर पिछले साल यानि साल 2016 में हुए सांप्रदायिक हिंसा के आंकड़ों की बात करें तो साल 2016 में 703 जबकि साल 2015 में 751 हिंसक घटनाएं हुई थी, जिनमें 86 और 97 लोगों को अपनी ज़िन्दगी से हाथ धोना पड़ा था। और अगर सबसे ज्यादा सांप्रदायिक हिंसा की बात करें तो इस मामले में उत्तर प्रदेश सबसे आगे है। और उसके बाद कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान और पश्चिम बंगाल का नंबर आता है।

ये भी पढ़ें :-  ओवैसी का सराहनिये क़दम, बिहार बाढ पिडितों के लिये भेजी डॉक्टरों की टीम और दवाऐं

रिपोर्ट के मुताबिक सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं में लगातार तीसरा साल है जब उत्तर प्रदेश और कर्नाटक सबसे ऊपर हैं। क्योंकि उत्तर प्रदेश में हुई 60 सांप्रदायिक घटनाओं में 16 लोगों की मौत और 151 लोग घायल हुए हैं। जबकि कर्नाटक में 30 घटनाओं घटी हैं जिस में तीन लोगों की मौत और 93 लोग घायल हुए हैं। जबकि वहीँ हाल ही में पश्चिम बंगाल के बशीरघाट में 26 हिंसक घटनाएं हुई जिनमें 3 लोगों को अपनी ज़िन्दगी से हाथ धोना पड़ा।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>