देश के कुछ हिस्सों में बारिश से लोगों को मिली राहत

May 05, 2016

देशभर में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है और उत्तर प्रदेश के बांदा में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया लेकिन देश के कई हिस्सों में बारिश होने से लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली.

केरल के पलक्कड़ में अधिकतम तापमान 40.8 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया जो राज्य में सबसे अधिक रहा. कोझिकोड में अधिकतम पारा 38.3, कन्नूर में 37.4, पुनालूर में 38.3 एवं त्रिवेंद्रम में 35.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा हुई लेकिन बांदा में गर्मी से कोई राहत नहीं मिली. राष्ट्रीय राजधानी में बादल छाये रहे और धूप-छांव के बीच हल्की बूंदाबांदी हुई एवं अधिकतम तापमान 39.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है.

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने शहर में कल हल्की बारिश और कुछ हिस्सों में गरज के साथ वष्रा की संभावना प्रकट की है. ओडिशा के 13 स्थानों पर पारा 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहा और सोनपुर सबसे गर्म रहा. वहां पारा 44.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

ओडिशा में राज्य के विशेष राहत आयुक्त के कार्यालय की एक रिपोर्ट के अनुसार संदेह है कि लू लगने से सूबे में अब तक 152 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि इस बात की पुष्टि हो गयी है कि इनमें 14 की मौत गर्मी के कारण हुई.

झारखंड में गढ़वा सबसे गर्म स्थान रहा जहां अधिकतम तापमान 43 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. कुछ स्थानों पर बादल छाए रहे एवं जमशेदपुर, हजारीबाग और धनबाद समेत कुछ स्थानों पर बारिश या बूंदाबांदी हुई.

पश्चिम बंगाल में कल की भीषण गर्मी के बाद आज शहरों और जिलों के तापमान में तीन से चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गयी, जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिली. कोलकाता में दिन के समय अधिकतम तापमान 33.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

गुजरात में भी दिन भर बादल छाये रहे और अधिकतम तापमान में करीब दो डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गयी. अमरेली में सबसे अधिक गर्मी रहा जहां अधिकतम पारा 41.5 डिग्री सेल्सियस रहा.

उत्तराखंड के अधिकतर हिस्सों में बहुप्रतीक्षित बारिश हुई, जिससे राज्य में चल रहे आग बुझाने के काम में बड़ी मदद मिली. हिमाचल प्रदेश में भी बारिश से निचले इलाकों में लगी आग पर काबू पाने में मदद मिली.

राज्य के प्रमुख मुख्य वन संरक्षक एस पी वासुदेवा ने कहा कि मध्य और निचले इलाकों सहित अन्य इलाकों में कल भी बारिश हुई थी जिससे आग बुझाने में मदद मिली.

वासुदेवा ने बताया, ‘‘शिमला, सोलन और कसौली समेत कई स्थानों पर कल बारिश हुई. आग पूरी तरह से बुझ चुकी है.’’

 

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>