मुस्लिम युवकों को फंसाने के लिए फर्जी आईएस वेबसाइट पर टिप्पणी के लिए दिग्विजय सिंह के खिलाफ मामला दर्ज

May 04, 2017
मुस्लिम युवकों को फंसाने के लिए फर्जी आईएस वेबसाइट पर टिप्पणी के लिए दिग्विजय सिंह के खिलाफ मामला दर्ज

हैदराबाद पुलिस ने गुरुवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की फर्जी वेबसाइट के संबंध में की गई टिप्पणी को लेकर मामला दर्ज किया है। दिग्विजय ने एक मई को ट्वीट किया था कि तेलंगाना पुलिस ने मुस्लिम युवकों को फंसाने के लिए इस्लामिक स्टेट (आईएस) की फर्जी वेबसाइट बनाई है।

तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के विधायक एम. गोपीनाथ और एक अन्य व्यक्ति की शिकायत पर जुबिली हिल्स पुलिस थाने में दिग्विजय के खिलाफ यह मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस ने दिग्विजय के खिलाफ लोगों में दहशत फैलाने वाली सामग्री प्रसारित करने, जानबूझकर लोगों में संकट के लिए चेतावनी का माहौल बनाने और लोगों को भ्रमित करने वाला बयान देने के लिए भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है।

दिग्विजय का यह बयान तो तीन दिन पहले आया था, लेकिन पुलिस ने कानूनी राय-मशविरा लेने के बाद उनके खिलाफ मामला दर्ज किया।

दिग्विजय ने ट्वीट किया था, “तेलंगाना पुलिस ने एक फर्जी आईएस की वेबसाइट बनाई है, जो मुस्लिम युवकों को कट्टरपंथी बना रहा है और उन्हें आईएस में शामिल होने के लिए प्रेरित कर रहा है।”

दिग्विजय ने अगले ट्वीट में कहा था, “मुद्दा यह है कि तेलंगाना पुलिस को भड़काऊ सूचनाएं प्रसारित कर आईएस से जुड़ने के लिए प्रेरित मुस्लिम युवाओं को फंसाना चाहिए?”

उन्होंने आगे लिखा था, “क्या यह न्यायोचित है? क्या यह नैतिक है? क्या मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने तेलंगान पुलिस को मुस्लिम युवाओं को आईएस में शामिल होने के लिए प्रेरित करने और फिर उन्हें फंसाने का अधिकार दे रखा है? अगर उन्होंने ऐसा किया है, तो क्या उन्हें इसकी जिम्मेदारी नहीं लेनी चाहिए और पद से इस्तीफा नहीं दे देना चाहिए? अगर उन्होंने ऐसा नहीं किया है तो, उन्हें ऐसा जघन्य अपराध करने वालों के खिलाफ जांच कर उन्हें दंडित नहीं करना चाहिए?”

पुलिस ने बताया कि अगर जरूरत पड़ी तो वे दिग्विजय को पूछताछ के लिए बुलाएंगे।

तेलंगाना में कांग्रेस के पार्टी मामलों के प्रभारी दिग्विजय को इस टिप्पणी को लेकर तेलंगाना सरकार से कड़ी आलोचना झेलनी पड़ी। तेलंगाना की टीआरएस सरकार ने दिग्विजय से बिना शर्त अपने आरोप वापस लेने या संबंधित सबूत देने के लिए कहा है।

टीआरएस मंत्रिमंडल के सदस्य और मुख्यमंत्री के. चेंद्रशेखर राव के बेटे के. टी. रामा राव ने कहा है कि दिग्विजय ने अपने आरोप वापस नहीं लिए हैं, जिसके चलते राज्य सरकार को उनके खिलाफ दूसरे विकल्पों का सहारा लेना पड़ रहा है।

रामा राव ने ट्वीट किया है, “एक पूर्व मुख्यमंत्री ने बेहद गैर-जिम्मेदाराना और निंदनीय बात की है। आपसे निवेदन है कि या तो अपनी टिप्पणियां बिना शर्त वापस लें या सबूत पेश करें।”

तेलंगाना पुलिस प्रमुख अनुराग शर्मा ने कहा है कि एक वरिष्ठ जिम्मेदार नेता ने आधारहीन आरोप लगाए हैं, जो आतंकवाद के खिलाफ लड़ रही पुलिस की छवि और मनोबल कम करने वाला है।

दिग्विजय सिंह ने हालांकि कहा है कि वह अपनी बात पर अडिग हैं। एक समाचार चैनल ने दिग्विजय के हवाले से कहा है कि उन्होंने यह टिप्पणी अपने सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर और कई लोगों से उसकी पुष्टि करने के बाद की है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>