राणा यशवंत ने इंडिया न्यूज को पहुंचाया TRP में दूसरे नंबर पर इंडिया TV, ABP हुआ पीछे

Oct 20, 2016
राणा यशवंत ने इंडिया न्यूज को पहुंचाया TRP में दूसरे नंबर पर इंडिया TV, ABP हुआ पीछे
इंडिया न्यूज के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत ने एक बार फिर जता दिया कि वह अपनी क्षमताओं के दम पर किसी चैनल को वो मुकाम दिला सकते हैं,  जहां तक पहुंचना हर चैनल की हसरत होती है। उनकी अगुवाई में इंडिया न्यूज हालिया टीआरपी रैकिंग में दूसरे पायदान पर पहुंच गया है। इंडिया न्यूज ने यह सफर  इंडिया टीवी, एबीपी न्यूज और जी न्यूज को पीछे छोड़कर हासिल किया।  राणा यशवंत ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर पूरी टीम को कामयाबी का श्रेय देते हुए खुशी का इजहार किया है। नंबर दो पर इंडिया न्यूज को पहुंचाने के बाद राणा ने जता दिया कि कभी टीआरपी किंग के तौर पर विनोद कापड़ी की जो पहचान रही, आज वही मुकाम राणा यशवंत हासिल कर चुके हैं।
क्या कहा राणा यशवंत ने
राणा यशवंत ने खुशी का इजहार करते हुए लिखा है कि-जीवन में संघर्ष और संकल्प का क्या मतलब होता है, ये अब समझ में आया। इतनी खुशी और अपनी टीम पर इतना नाज आज तक नहीं  हुआ। इसके बाद उन्होंने सभी चैनलों की टीआरपी रेटिंग का ब्योरा दिया है।  आज तक 15.9 प्वाइंट के साथ नंबर वन पर फिर काबिज हुआ तो इंडिया न्यूज ने14.7 के साथ दूसरा स्थान हासिल किया। जबकि इंडिया टीवी 14.3 के साथ तीसरे, 11.3 के साथ एबीपी चौथे और 11.00 के साथ जी न्यूज पांचवे नंबर रहा।
आज तक नंबर वन का ताज बचाने में जुटा
राणा यशवंत ने जिस तरह से टीआरपी की बादशाहत कायम करते हुए इंडिया न्यूज को दूसरे स्थान पर पहुंचाया तो अब सामने सिर्फ आज तक ही टक्कर में बचा है। रैंक में भी ज्यादा अंतर नहीं है। ऐसे में आज तक प्रबंधन अब आगे के लिए नंबर वन का ताज सुरक्षित रखने में जुट गया है। सूत्र बता रहे हैं कि मीटिंगों का दौर चल निकला है। अपने पूर्व इम्प्लायी रहे राणा यशवंत को रोकने के लिए अब आज तक कार्यक्रमों को और धार देने में जुटा है। ताकि इंडिया न्यूज से उसका फासला आगे कि लिए भी बरकरार रहा। बता दें कि राणा यशवंत टीवी टुडे नेटवर्क में आउट पुट का काम सफलतापूर्वक देख चुके हैं। राणा यशवंत को उनकी मेहनत और जुनून के लिए जाना जाता है।
टीवी की दुनिया में रची कविताएं
राणा यशवंत ऐसे पत्रकार हैं जिनके अंदर एक कवि भी बसता है। उन्होंने 24 घंटे की खबरों की दुनिया में जीते हुए भी अपने अंदर के कवि को जिंदा रखा। टीवी के स्टूडियो में रहकर भी कविताएं तलाशीं। अभी बीते दिनों उनके काव्य संग्रह अंधेरी गली का चांद का विमोचन हुआ।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>