बेरोजगारों की रैली रोकने पर छिटपुट हिंसा, हैदराबाद में तनाव

Feb 22, 2017
बेरोजगारों की रैली रोकने पर छिटपुट हिंसा, हैदराबाद में तनाव

तेलंगाना में बेरोजगार युवाओं की एक रैली को रोकने के लिए पुलिस द्वारा बुधवार को कई छात्रों व उनके नेताओं की गिरफ्तारी से प्रदेश के दो शहरों हैदराबाद तथा सिकंदराबाद के कुछ हिस्सों में तनाव फैल गया। तेलंगाना ज्वाइंट एक्शन कमेटी (टीजेएसी) के संयोजक एम. कोदांदरम तथा अन्य नेताओं व कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की निंदा करने के लिए छात्रों ने उस्मानिया यूनिवर्सिटी, निजाम कॉलेज, सिकंदराबाद पीजी कॉलेज तथा कुछ अन्य शैक्षणिक संस्थानों में विरोध-प्रदर्शन किया, जिस दौरान हिंसा की छिटपुट घटनाएं घटीं।

नेताओं की रिहाई की मांग करते हुए छात्रों ने रैलियां निकालीं और सरकार विरोधी नारे लगाए।

निषेधाज्ञा को न मानते हुए टीजेएसी के नेताओं, छात्रों, विपक्षी पार्टियों तथा छात्र समूहों ने सुंदरैया विज्ञान केंद्रम तथा इंद्र पार्क की तरफ मार्च करने का प्रयास किया।

टीजेएसी ने रैली को सुंदरैया विज्ञान केंद्रम से इंद्र पार्क की तरफ ले जाने का फैसला किया और मांग की कि सरकार को एक लाख लोगों को नौकरी देने के अपने वादे को पूरा करना चाहिए।

पुलिस ने हिंसा भड़कने के डर से मार्च को आगे बढ़ने से रोक दिया।

उस्मानिया यूनिवर्सिटी में उस वक्त तनाव पसर गया, जब पुलिस ने छात्रों को एक रैली निकालने से रोक दिया। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया, जिसके बाद पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए हल्का बल प्रयोग किया। कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया गया।

एक छात्र ने उस्मानिया यूनिवर्सिटी के निकट आत्मदाह का प्रयास किया, लेकिन उसे हिरासत में ले लिया गया।

निजाम कॉलेज में छात्रों के पथराव में एक पुलिस उपनिरीक्षक घायल हो गया।

कांग्रेस, वाम दल, आम आदमी पार्टी (आप) तथा विपक्षी पार्टियों से संबद्ध छात्र समूहों के नेताओं व कार्यकर्ताओं को शहर के एक दर्जन से अधिक जगहों पर गिरफ्तार किया गया।

छात्रों तथा विभिन्न समूहों के नेताओं ने सिकंदराबाद स्थित कमाटीपुरा पुलिस थाने के घेराव का प्रयास किया, जहां कोदांदरम तथा उनके समर्थकों को हिरासत में रखा गया है।

एहतियान, बुधवार सुबह पुलिस ने टीजेएसी नेता को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया और पुलिस थाने में बंद कर दिया।

रैली के लिए हैदराबाद जाने से युवकों को पुलिस द्वारा रोकने के दौरान राज्य में कई जगहों पर प्रदर्शन हुआ।

उस्मानिया यूनिवर्सिटी ज्वाइंट एक्शन कमेटी ने गुरुवार को राज्य के शैक्षणिक संस्थानों को बंद करने का आह्वान किया है।

पुलिस ने लोगों के इकट्ठा होने से रोकने के लिए इंदिरा पार्क जाने वाले सभी मार्गो को सील कर दिया। सुंदरैया विज्ञान केंद्रम के आसपास की सड़कों पर सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त कर दी गई है।

छात्रों का आरोप है कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सरकार 1.07 लाख लोगों को नौकरी देने के वादे को पूरा करने में विफल हुई है।

उन्होंने मांग की है कि सरकार तथा सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में मौजूद तमाम रिक्तियों को तत्काल भरा जाए।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>