रक्षा बंधन, बहन के प्यार के आगे पिघली सलाखें

Aug 19, 2016

जालंधर(भारती): दुनिया और कानून की नजर में भले ही वह अपराधी हो लेकिन एक बहन का दिल कहां भाई को अपराधी मानता है। भाई के प्यार में बंधी बहन उसे राखी बांधने व अपनी रक्षा का वचन लेने जेल भी पहुंच जाती है।

 

गुरुवार को राखी के मौके पर कपूरथला की केंद्रीय जेल भाई-बहन के इस नि:स्वार्थ प्यार का गवाह बनी, जहां करीब 600 महिलाएं जेल में बंद अपने भाइयों को राखी बांधने पहुंचीं। इस दौरान कई बहनें भावुक हुईं तो कई भाइयों की आंखों से भी आंसू छलक आए। इस मौके पर बहनों व भाइयों की आंखों से बह रहे आंसुओं से तो ऐसे लग रहा था जैसे बहन के प्यार के आगे जेल की सलाखें भी पिघल गई हों। होशियारपुर से आई बलविंद्र कौर का भाई कुलवीर सिंह 10 महीनों से जेल में बंद है। वह अपने पति के साथ अपने भाई को राखी बांधने आई थी, जबकि जालंधर की शिखा का भाई 2 महीनों से जेल में बंद है और शिखा उसे राखी बांधने जेल आई।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>