सऊदी अरब सहित 4 मुस्लिम देशों द्वारा रिश्तें तोड़ने पर कत्तर ने जारी की अपनी प्रतिक्रिया

Jun 05, 2017
सऊदी अरब सहित 4 मुस्लिम देशों द्वारा रिश्तें तोड़ने पर कत्तर ने जारी की अपनी प्रतिक्रिया

सऊदी अरब, बहरीन, मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने सोमवार को कतर के साथ राजनयिक संबंध तोड़ दिए हैं। इन देशों ने कतर पर आतंकवाद को सहयोग देने और उनके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का आरोप लगाते हुए संबंध तोड़े हैं।

अल अहराम ने मिस्र के विदेश मंत्रालय के हवाले से बतायया, “कतर की नीति से अरब देशों की राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है, इससे अरब समाज में विभाजन हो सकता है।”

इन चारों देशों ने कतर के साथ राजनयिक संबंध तोड़ने के साथ अगले 24 घंटों के भीतर कतर से भूमि, जल और वायु संपर्क भी बंद करने का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें :-  न्यूजीलैंड में भीषण बाढ़ के कारण आपातकाल घोषित

सऊदी अरब की सरकारी समाचार एजेंसी एसपीए के मुताबिक, कतर की सेनाओं को यमन में चल रहे युद्ध से भी हटाया जाएगा क्योंकि कतर अलकायदा और इस्लामिक स्टेट जैसे आतंकवादी संगठनों को सहयोग कर रहा है।

बहरीन ने आधिकारिक बयान जारी कर कहा कि कतर हमारे आतंरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है और यह नकारात्मक प्रचार में शामिल है।

बहरीन ने कतर के राजनयिकों से 48 घंटों के भीतर देश छोड़कर जाने को कहा है।

समाचार एजेंसी डब्ल्यूएएम के मुताबिक, यूएई ने भी कतर पर आतंकवाद का वित्तपोषण करने और उसे तरह की मदद मुहैया कराने का आयोग लगाया है।

ये भी पढ़ें :-  ब्रिटेन में पहली बार सर्वोच्च न्यायालय की प्रमुख होगी महिला

कत्तर विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि निराधार रिपोर्टों के आधार संबन्ध तोड़े लेने का कोई औचित्य नहीं है। तसनीम समाचार एजेन्सी के अनुसार, क़तर के विदेश मंत्रालय ने घोषणा की है कि कुछ अरब देशों की ओर से क़तर से संबन्ध तोड़ लने की कार्यवाही का कोई औचित्य दिखाई नहीं देता। बयान में कहा गया है कि फ़ार्स की खाड़ी की सहयोग परिषद के एक सदस्य देश के विरूद्ध इस प्रकार की कार्यवाही का कोई स्पष्ट तर्क नहीं।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>