ड्रग्स रखने के जुर्म में मलेशिया में भारतीय महिला को फांसी की सजा, दिल्‍ली में चलाती थी ब्‍यूटी पार्लर

Oct 28, 2016
ड्रग्स रखने के जुर्म में मलेशिया में भारतीय महिला को फांसी की सजा, दिल्‍ली में चलाती थी ब्‍यूटी पार्लर

ड्रग्स अधिनियम 1952 के अनुसार दोषी पाए जाने पर फांसी का प्रावधान है। जिसमे दिल्ली की संगीता शर्मा ब्रह्मचारीमयूम को सात अक्तूबर, 2013 को पेनांग अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर 1,637.1 किलोग्राम मेटामफेटामिन की तस्करी के मामले में दोषी पाया गया। मलेशियाई उच्च न्यायालय ने करीब 1.6 किलोग्राम नशीली दवाओं की तस्करी के मामले में 41 वर्षीय भारतीय महिला को फांसी की सजा दी है। महिला नई दिल्ली में एक ब्यूटी पार्लर चलाती थी।

स्टार ऑनलाइन की खबर के मुताबिक, पेनांग स्टेट के जॉर्ज टाउन में जब अदालत ने भारतीय महिला को फांसी की सजा दी तो संगीता को फैसले की जानकारी दी तो वह बिल्कुल टूट गई। न्यायिक आयुक्त आजमी अरिफिन ने अपने फैसले में कहा कि अभियोजन ने बिना किसी संदेह के मामले को साबित किया। खबर में कहा गया है कि न्यायिक आयुक्त ने कहा कि संगीता को इस बात की जानकारी थी कि उनके सुटकेस में नशीली दवा है, इस प्रकार ये साबित होता है कि वह निर्दोष नहीं है, जैसा कि उसने अपने बचाव में दावा किया था।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>