पुलिस ने कांदिविली में एक तांत्रिक के चंगुल से मुक्त कराए 28 बच्चों

Jun 13, 2016

महाराष्ट्र में पुलिस ने मुंबई के पश्चिमी उपनगर कांदिविली के एक बंगले से 28 बच्चों को मुक्त कराया, जिसमें 12 नाबालिग हैं.

बताया जा रहा है कि एक तांत्रिक पूजा-पाठ के नाम पर इन बच्चों का शोषण कर रहा था.

पुलिस ने बताया कि शुक्रवार की रात को किसी तरह से एक बच्चे ने अपने रिश्तेदारों को मामले की सूचना दी. उनकी सूचना पर पुलिस ने यह कार्रवाई है. छापेमारी के दौरान बड़ी संख्या में बच्चे मिले, इनमें से ज्यादा दूसरे प्रदेश के थे.पुलिस ने इस दौरान दो लोगों को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने बताया कि इन बच्चों को पूजा-पाठ और तंत्रक क्रिया के लिये बंगले में बंद किया गया था. पूजा-पाठ सिखाने वाले बच्चों को धार्मिक रीति-रिवाज

के नाम पर शारीरिक और मानसिक यातनाएं दी जाती थी.

कांदिवली में स्थित इस बंगले को चारों ओर से हरे पर्दे से ढककर रखा गया था. यहां कई बच्चों को एक पैर पर खड़ा रखकर पूजा कराई जाती थी. उन्हें बात ना मानने पर कई दिनों खाना नहीं दिया जाता था और भी कई तरीके से उन्हें प्रताड़ित किया जाता था.

पुलिस ने इस मामले में भगवानदास तिवारी और देवेंद्र मनोज पांडे नाम के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक छुड़ाये गये ज्यादातर

बच्चे छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश के हैं. पुलिस बंगले के मालिक से भी पूछताछ कर सकती है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>