तस्वीरें: ये हैं देश की ऐसी महिलाएं जिन्होंने अपने अपने कामों से देश का नाम किया है रोशन

Jan 26, 2018
तस्वीरें: ये हैं देश की ऐसी महिलाएं जिन्होंने अपने अपने कामों से देश का नाम किया है रोशन

अभी तक आपने देश का नाम रोशन करने वाले अक्सर लड़कों का नाम सुना होगा मगर आपको को ये जानकार बड़ी हैरानी होगी कि देश की इन लड़कियों ने वो काम कर दिखाया है जिसे लड़के नहीं करने से काफी पीछे रहे हैं। आइये आज हम आपको ऐसी ही कुछ देश की लड़कियों के बारे में बात करते हैं जिन्होंने देश के साथ साथ अपने नाम को भी रोशन किया है।

इन लड़िकयों ने खेल से लेकर आकाश में उड़ने तक हर मैदान में अपना सिक्का चलाया है। उन्ही लड़कियों में से एक साक्षी मलिक का भी नाम आता है जिन्होंने देश के लिए कुश्ती में पदक लाने वाली खिलाड़ी के रूप में जानी जाती हैं।

ये भी पढ़ें :-  युवराज सिंह की पत्नी हेज़ल ने शेयर की ऐसी तस्वीर जिससे लोगो ने जमकर उड़ाया युवराज का मज़ाक

साक्षी मलिक:


साल 2016 के ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान होने का खिताब साक्षी मलिक को हासिल है। हैरानी की बात तो ये है कि यह नाम उनके ख़िताब अपने नाम करने से पहले इतना चर्चित नहीं थीं। लेकिन हुआ ये कि जब रियो ओलंपिक खेलों में जिस समय पदक की उम्मीदें धराशाई हो रही थीं तो मात्र 23 साल की देश की इस बेटी ने कांस्य पदक हासिल कर पूरे भारत का नाम बुलंद कर दिया। और फिर उन्होंने देश के साथ साथ अपने नाम को भी रोशन कर दिया।

पीवी सिंधू:


इसी तरह से ओलंपिक खेलों में रजत पदक जीतने वाली भारतीय महिला में पी.वी. सिंधु. का नाम भी लिया जाता है। बता दें कि साक्षी मलिक के बाद भारत की बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु ने रियो ओलंपिक में रजत पदक पाकर देश को दूसरा मेडल दिलाया। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 120 साल के ओलंपिक इतिहास में भारत के लिए सिल्वर मेडल जीतने वाली पीवी सिंधु पहली महिला हैं। इतना ही नहीं बल्कि देश को उनसे गोल्ड की उम्मीद थी लेकिन जब उन्हें सिल्वर मेडल मिला तो पूरे देश ने उनपर नाज किया। और अपने इस खिलाडी को याद किया।

ये भी पढ़ें :-  INDvSA: वन-डे सीरीज में कोहली पर नहीं बल्कि धोनी पर होगी सबकी नजर, कर सकते हैं ये दो रिकॉर्ड अपने नाम

दीपा कर्माकर:


ओलंपिक खेलों में दीपा कर्माकर हालांकि भारत को कोई मेडल नहीं दिला पाईं लेकिन 22 साल की इस जिमनास्ट ने जिम्नास्टिक के फाइनल में पहुंचकर इतिहास रच दिया। लेकिन वह महज कुछ अंकों से कांस्य पदक से चूक गईं।

दीपा मलिक:


पैरालंपिक खेलों में पहला पदक जीतने वाली भारतीय महिला कोई और नहीं बल्कि दीपा मलिक हैं। उन्होंन साल 2016 में हुए रियो पैरालंपिक खेलों में भारत के नाम सिल्वर मेडल किया था। जिसके साथ उन्होंने इतिहास में अपना नाम दर्ज करवा लिया। उन्होंने यह पदक गोला फेंक एफ-53 प्रतियोगिता में जीता।

सानिया मिर्जा:


महिला टेनिस संघ (डब्ल्यूटीए) डबल रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज होने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं सानिया मिर्जा।

ये भी पढ़ें :-  हार्दिक पांड्या की तुलना कपिल देव से करने वालों पर भड़क गए अजहरुद्दीन, कह दी इतनी बड़ी बात

कल्पना चावला:


अंतरिक्ष में जाने वाली पहली भारतीय महिला कल्पना चावला नाम आज भी बड़े ही शान के साथ लिया जाता है। इनके अलावा भी भारत की कई महिलाएं भी शामिल हैं।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>