पठानकोट हमला : पाकिस्तान से आई टीम ने भारत से जांच को लेकर शुरू की वार्ता

Mar 28, 2016

भारत और पाकिस्तान ने पठानकोट वायुसेना स्टेशन पर आतंकी हमले की जांच को लेकर सोमवार को औपचारिक बातचीत शुरू की.

पड़ोसी देश से पहली बार संयुक्त जांच टीम (जेआईटी) आई है जिसमें आईएसआई का एक अधिकारी भी शामिल है.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि उन्हें अब तक भारतीय एजेंसियों द्वारा की जा रही जांच और उन सबूतों पर विस्तृत प्रस्तुति दी जा रही है जो यह दर्शाते हैं कि हमले की योजना पाकिस्तान में बनी थी. यहां पहुंची टीम जांच के सिलसिले में मंगलवार को पठानकोट जाएगी. दो जनवरी को इस हमले को पाकिस्तान आधारित जैश ए मोहम्मद आतंकी समूह ने अंजाम दिया था जिसमें सात सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए थे.

दोपहर भोज के बाद के सत्र में पाकिस्तानी टीम अपने संदेहों को दूर करने के लिए अपने सवाल उठाएगी. पाकिस्तानी टीम मंगलवार की सुबह एक विशेष विमान से पठानकोट जाएगी.

पाकिस्तान की पांच सदस्यीय जेआईटी का नेतृत्व पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के आतंकवाद रोधी विभाग (सीटीडी) के प्रमुख मोहम्मद ताहिर राय कर रहे हैं. इसमें लाहौर के उपमहानिदेशक, खुफिया ब्यूरो, मोहम्मद अजीम अरशद, आईएसआई अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल तनवीर अहमद, सैन्य खुफिया अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल इरफान मिर्जा और गुजरांवाला सीटीडी जांच अधिकारी शाहिद तनवीर शामिल हैं. राष्ट्रीय जांच एजेंसी मुख्यालय में टीम की अगवानी महानिरीक्षक संजीव कुमार सिंह ने की.

इससे पूर्व पठानकोट हमले की जांच करने के लिए पाकिस्तान सरकार की तरफ से गठित पांच सदस्यीय विशेष टीम सोमवार सुबह एनअाईए मुख्यालय दिल्ली पहुंची. भारत की तरफ से इस बात के पुख्ता इंतजाम हैं कि एसआईटी भारत के उन सबूतों को स्वीकार करे, जिससे यह साबित होता है कि पठानकोट के हमलावर न सिर्फ पाकिस्तान से हैं बल्कि बल्कि हमले की पूरी प्लानिंग भी वहीं बनी थी.

भारत ने इस हमले को लेकर पाकिस्तान सरकार की तरफ से अभी तक जो कदम उठाये गए हैं उससे काफी संतुष्ट है. लेकिन यह भी साफ कर दिया गया है कि पठानकोट हमले की जांच की गंभीरता से ही दोनों देशों के बीच रिश्तों का भविष्य तय होगा.

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>