पर्रिकर ने कहा रक्षा खरीद में भ्रष्टाचार युद्ध तैयारियों में बाधक

May 21, 2016

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने कहा कि रक्षा खरीद में भ्रष्टाचार युद्ध तैयारियों में बाधक है.

रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने पूर्ववर्ती सरकार के शासन में रक्षा खरीद में भ्रष्टाचार के कारण रक्षा तैयारियों के प्रभावित होने का दावा करते हुए शुक्रवार को कहा कि मोदी सरकार सशस्त्र सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए खरीद प्रक्रिया में तेजी लाने को कदम उठा रही है.

बोफोर्स घोटाले का उदाहरण देते हुए पर्रिकर ने कहा कि घोटाले के चलते ही हाविट्जर तोप की खरीद ठप पड़ गई.

लोक प्रसारक आकाशवाणी के साथ साक्षात्कार में उन्होंने कहा, अब देश में ऑर्डिनेन्स फैक्ट्री में बनाई गई धनुष तोप का परीक्षण चल रहा है. इसके साथ ही 50 प्रतिशत स्वदेशी सामान से बनने वाली सेल्फ प्रोपेल्ड तोप भी निजी क्षेत्र के माध्यम से बनाने की मंजूरी दी गई है.

इसके अनुबंध को अगले दो-तीन महीने में अंतिम रूप दे दिया जाएगा. रक्षा मंत्री ने कहा कि अतीत में हुए भ्रष्टाचार के मामलों के कारण रक्षा कंपनियों की अंधाधुंध ब्लैक लि¨स्टग की गई जिससे रक्षा तैयारी बाधित हुई. राफेल विमान सौदे के बारे में उन्होंने कहा कि इसकी कीमत को लेकर बातचीत चल रही है और इसे जल्द ही अंतिम रूप दे दिया जाएगा.

 

सरकार इसकी कीमत को लेकर सौदेबाजी कर रही है जो लगभग प्रति विमान 700 से 750 करोड़ रु. तक हो सकती है. पर्रिकर ने कहा कि लड़ाकू बलों की संख्या कम नहीं की जाएगी, बल्कि इस बल को और मजबूत बनाया जाएगा.

लड़ाकू बलों से इतर कर्मियों की संख्या को तर्कसंगत बनाया जाएगा जिसके लिए एक समिति का गठन किया गया है जो तीन महीने में अपनी रिपोर्ट देगी.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>