पाकिस्तान में मजे कर रहे थे, 26/11 मुंबई हमले के वक्त भारतीय अधिकारी

Jun 11, 2016

मुंबई पर 26 नवंबर 2008 को जब हमला हुआ उस समय भारत के गृहमंत्रालय का शिष्ट मंडल पाकिस्तान में मेहमाननवाजी का लुत्‍फ उठा रहा था.

इस बात का खुलासा हमले के करीब साढ़े सात साल बाद आरटीआई के जरिए हुआ है.

26 नवंबर को पाकिस्तान के इस्लामाबाद में भारत-पाकिस्तान की गृह सचिव स्‍तर की बातचीत खत्म हुई थी और इसी दिन देश की आर्थिक राजधानी मुंबई पर सीमापार से आए आतंकियों ने हमला कर दिया था.

एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि तत्कालीन गृह सचिव मधुकर गुप्ता समेत कुछ अन्य वरिष्ठ अधिकारी उस दौरान पाकिस्तान में मेहमाननवाजी का लुत्‍फ उठा रहे थे. इतना ही नहीं उन्होंने पाकिस्तान के खुबसूरत हिल स्टेशन मरी में अपना प्रवास एक दिन और बढ़ा लिया था.

गुप्ता के साथ बॉर्डर मैनेजमेंट के अपर सचिव अनवर अहसान अहमद, आंतरिक सुरक्षा की संयुक्त सचिव दीप्ती विलासा और भारतीय आंतरिक सुरक्षा प्रतिष्ठान के कुछ अन्य अधिकारी मरी में मौजूद थे.

भारत के सभी अधिकारियों को यह कहकर पाकिस्तान में रोका गया था कि उन्हें अगले दिन यानी 27 नवंबर को गृहमंत्री से मिलवाया जाएगा. 27 नवंबर की दोपहर को ही भारतीय अधिकारियों के दल स्वदेश लौटा था.

गौरतलब है कि 26 नवंबर 2008 में ही गृह सचिव स्तर की वार्ता के लिए भारत सरकार का शिष्ट मंडल पाकिस्तान गया था. वार्ता के खत्म होने बाद अधिकारियों को भारत वापस लौटना था, लेकिन भारतीय शिष्ट मंडल पाकिस्तान में बेवजह एक दिन और रुका रहा.

इस मामले के सामने आने के बाद अब किसी अधिकारी के पास कोई सटीक जवाब नहीं है.

वहीं पाकिस्तान के इस कदम को अब शक की नजर से देखा जा रहा है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>