भारत की शर्तों को किया दरकिनार, पाकिस्तान ने दिया नया न्यौता

Aug 20, 2016

इस्लामाबाद। सीमा पार से हो रहे पर चर्चा के के ऑफर को नजरअंदाज करते हुए ने शुक्रवार को भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर को मुद्दे पर बातचीत के लिए पाकिस्तान आने का न्यौता दिया है। पाकिस्तान ने कहा है कि जयशंकर इस महीने के अंत तक कभी भी पाकिस्तान आकर कश्मीर मुद्दे पर बात करें।

पाकिस्तान ने कहा है वह भारत के साथ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव के तहत बातचीत करना चाहता है। इसके साथ ही पाकिस्तान ने कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन को तुरंत खत्म करने की भी मांग की है। इसके अलावा पाकिस्तान ने भारत से इस बात की भी मांग की है कि पाकिस्तान के डॉक्टरों को कश्मीर में जाकर वहां घायलों का इलाज करने की इजाजत दी जाए।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालयय के प्रवक्ता ने कहा कि पाक विदेश सचिव ऐजाज अहमद चौधरी ने भारत के विदेश सचिव एस जयशंकर की तरफ से सीमा पार के आतंकवाद पर बातचीत के प्रस्ताव का जवाब उन्हें दे दिया है। यह जवाब अहमद चौधरी द्वारा भारतीय उच्चायुक्त गौतम बांबवाले को सौंप दिया गया है।

पहले भी दे चुका है न्यौता

इससे पहले सोमवार को भी पाकिस्तान ने भारत को कश्मीर मुद्दे पर बात करने के लिए आमंत्रित किया था। पाकिस्तान ने कहा था कि इसका समाधान निकालना दोनों देशों की अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारी है। हालांकि, बुधवार को भारत ने पाकिस्तान के प्रस्ताव ठुकराते हुए कहा था कि दोनों देशों के बीच सामा पार के आतंकवाद पर बात होनी चाहिए, क्योंकि जम्मू-कश्मीर के हालात के लिए सीमा पार का आतंकवाद ही जिम्मेदार है।

भारत ने रखी थी कुछ शर्तें

गुरुवार को भारत की तरफ से दोनों देशों के बीच बातचीत करने के लिए कुछ शर्तें रखी गई थीं। भारत ने कहा था कि बातचीत जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों को खत्म करने पर केन्द्रित होनी चाहिए। साथ ही इसका मकसद घाटी में हिंसा और आतंकवाद को उकसाने वाले तत्वों पर लगाम लगाने का होना चाहिए। इन सभी शर्तों को दरकिनार करते हुए पाकिस्तान ने नया शुक्रवार को नया न्यौता भेजा है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>