एक बार फिर से मानवता हुई शर्मसार, बेटी की लाश कंधे पर उठाकर 2 किलोमीटर तक चला पिता

Oct 18, 2017
एक बार फिर से मानवता हुई शर्मसार, बेटी की लाश कंधे पर उठाकर 2 किलोमीटर तक चला पिता

शायद आज भी ओडिशा के कालाहांडी की वह तस्वीरें सब के जहन में होंगी, जब एक दाना मांझी नाम के आदिवासी शख्स को अपनी पत्नी की लाश को अपने कंधे पर उठाकर 10 किलोमीटर तक चलना पड़ा था। क्योंकि वहां के सरकारी हॉस्पिटल ने उसको अपनी पत्नी की लाश को उसके गांव ले जाने के लिए एंबुलेंस की मदद नहीं दी थी। ठीक ऐसी ही एक घटना बिहार की राजधानी पटना से सटे फुलवारीशरीफ में देखने को मिली है।

बता दें कि रामबालक नाम का एक आदिवासी अपनी बेटी का इलाज कराने के लिए जमुई से मंगलवार को पटना के एम्स पहुंचा। जो जमुई में मजदूरी करता है और बेहद गरीब है, अपनी पत्नी संजू के साथ बेटी रोशन का इलाज कराने के लिए एम्स आया मगर बिहार के इतने बड़े हॉस्पिटल में पहुंचने के बाद रामबालक के साथ जो हुआ उसकी वजह से उसकी बेटी की मौत हो गई।

हुआ ये कि अपनी बीमार बेटी के साथ एम्स पहुंचने के बाद वहां खड़े गार्ड ने उसे बेटी का पंजीकरण कराने के लिए कहा। लेकिन इतने बड़े हॉस्पिटल में पहुंचने के बाद रामबालक को समझ में नहीं आ रहा था कि आखिर उसे पंजीकरण कहां करवाना है और कैसे करवाना है। इस वजह से वह एक काउंटर से दूसरे काउंटर तक भटकता रहा। और अपनी बीमार बेटी का हवाला देता रहा मगर उसके बावजूद भी कोई डॉक्टर या हॉस्पिटल का कर्मचारी उसकी मदद करने के लिए सामने नहीं आया। किसी तरह रामबालक को समझ में आया कि पंजीकरण कराने के लिए उसे कौन से काउंटर पर खड़ा होना है तो वह वहां जाकर लाइन में लग गया मगर जब तक उसका नंबर आया उसे बताया गया कि ओपीडी का समय ख़तम हो गया है। अब वह अगले दिन आए। लेकिन दूसरी तरफ रामबालक की बेटी की हालत और बिगड़ती चली गई और वहीँ हॉस्पिटल के अंदर ही उसने दम तोड़ दिया। .

इस गरीब की परेशानी यहीं पर ख़त्म नहीं हुई क्योंकि अपनी बेटी की लाश को एंबुलेंस से घर ले जाने के पैसे भी उसके पास नहीं थे। लेकिन हॉस्पिटल ने उसकी कोई मदद नहीं की। आखिरकार, अपने कंधे पर बेटी की लाश उठा कर अपनी पत्नी के साथ 2 किलोमीटर तक चलता हुआ फुलवारीशरीफ टेंपो स्टैंड पहुंचा और वहां से वह किसी तरीके से पटना रेलवे स्टेशन आया। जहाँ से ट्रेन पकड़ कर अपनी बेटी की लाश के साथ वापस जमुई चला गया। इस घटना ने एक बार फिर से मानवता को शर्मसार कर दिया है और बताया है कि किस तरीके से मानव समाज संवेदनाहीन होता जा रहा है।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>