पापा अब कौन मेरी डोली उठाएगी-कहकर रोते हुए बेसुध हो जा रही शहीद रमाशंकर की बेटी

Nov 01, 2016
पापा अब कौन मेरी डोली उठाएगी-कहकर रोते हुए बेसुध हो जा रही शहीद रमाशंकर की बेटी
भोपाल केंद्रीय जेल से फरार सिमी आतंकियों के हाथों मारे गए हेड कांस्टेबल रमाशंकर यादव की बेटी के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। अब कौन मेरी डोली उठाएगा…कौन मेरा कन्यादान करेगा…कौन मुझे दुल्हन बने देखकर खुश होगा…पापा आपका सपना अधूरा रह गया’….ऐसी तमाम बातें कहकर शहीद की बेटी रोते-रोते बेसुध हो जा रही है।
गौरतलब है कि भोपाल सेंट्रल जेल से सिमी के आतंकियों ने भागते वक्त कांस्टेबल रमाशंकर यादव की हत्या कर दी थी। शहीद हेड कांस्टेबल रमाशंकर यादव के घर मातम छाया हुआ है। 9 दिसंबर को उनकी बेटी की शादी होने वाली थी, जिसकी तैयारी में पूरा परिवार जुटा हुआ था। लेकिन अब पिता की मौत के बाद पूरा परिवार सदमे में है।
बेटी को यकीन नहीं हो रहा पापा छोड़कर चले जाएंगे
रमाशंकर यादव ने बेटी से कहा था कि वह धूमधाम से उसकी शादी कराएंगे। मगर रमाशंकर के शहीद होने पर बेटी को अब भी भरोसा नहीं हो रहा है कि जिस पिता ने उसकी डोली को विदाई देने का वादा किया था वो अचानक उसे छोड़ कर चले गए। शहीद की बेटी ने कहा कि, ‘अब कौन मेरी डोली उठाएगा…कौन मेरा कन्यादान करेगा…कौन मुझे दुल्हन बने देखकर खुश होगा…पापा आपका सपना अधूरा रह गया।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>