देश में वेब जर्नल‍िज्म नहीं, बल्क‍ि सुपारी जर्नल‍िज्म : बीजेपी मंत्री

Oct 10, 2017
देश में वेब जर्नल‍िज्म नहीं, बल्क‍ि सुपारी जर्नल‍िज्म : बीजेपी मंत्री

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय शाह द्वारा एक न्यूज पोर्टल पर मानहानि का मुकदमा करने के फैसले के बाद पार्टी के नेता वेब जर्नल‍िज्म पर सवाल खड़े करने लगे हैं। यूपी सरकार के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने सोमवार को वेब मीडिया पर हमला किया।

उन्होंने कहा, आज देश में वेब जर्नल‍िज्म नहीं, बल्क‍ि सुपारी जर्नल‍िज्म है। कुछ वेब पोर्टल्स किसी को भी बिना तथ्यों के बदनाम कर रहे हैं। वेब मीडिया पत्रकारिता नहीं, बल्क‍ि बदनाम करने का जरिया बन गया है। उन्होंने कहा, आज बहुत से न्यूज पोर्टल आ गए जो सेंसेशनल खबरें डालकर अपना पोर्टल चला रहे हैं। इसी दौरान जब एक पत्रकार ने उनसे सवाल पूछा कि जब आप विपक्ष में थे तो क‍हते थे कि रॉबर्ड वाड्रा के खिलाफ इतने पेपर्स हैं कि वो पूरी जिंदगी जेल में गुजारेंगे, पिछले तीन सालों से आपकी केंद्र में सरकार है ये बताइए कि रॉबर्ड वाड्रा कितनी बार जेल गए और बाहर आए? इस सवाल पर उन्होंने कहा, रॉबर्ट वाड्रा को जेल जाना ही चाहिए। कानून अपना काम कर रहा है। देर जरूर लग रही है, लेकिन दोषी बक्शे नहीं जाएंगे।

दूसरी तरफ कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना अमित शाह का बचाव करते हुए कहते हैं कि, किसी ने कोई चीटिंग नहीं की है। कंपनी का सारा काम बैंकिंग के जरिये किया गया है। जिस बिजनेस को लक्ष्‍य किया जा रहा है वो बंद हो चुकी है। अगर यह अमित शाह के बेटे का मामला नहीं होता तो इसकी कोई खबर ही नहीं होती। सब कुछ लीगल है। इसी दौरान जब उनसे पूछा गया कि जब कंपनी को लगातार इतने बढ़े स्तर पर फायदे हो रहे हैं तो कंपनी बंद क्यों की गई? इस पर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पूरा मामला ये है कि एक वेबसाइट ने अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी के बारे में रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज में दर्ज जानकारियों का हवाला देते हुए अपनी रिपोर्ट में लिखा कि टेंपल एंटरप्राइज प्राइवेट लिमिटेड, जिसमें जय शाह डायरेक्टर हैं। कंपनी का टर्नओवर 2014-14 की तुलना में 2015-16 में 16000 गुना बढ़ गया। रिपोर्ट के अनुसार 2014-15 में कंपनी का टर्नओवर जहाँ 50,000 रुपए था जो कि 2015-16 में बढ़कर 80.5 करोड़ हो गया। रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी ने राज्यसभा सांसद परिमल नाथवाणी के रिश्तेदार राजेश खंडवाल से 15.78 करोड़ का लोन भी हासिल किया। परिमल नाथवाणी रिलायंस इंडस्ट्रीज में सीनियर एग्जीक्यूटिव भी हैं। जय शाह ने बयान जारी कर किसी भी प्रकार की अनियमितिता के आरोप का खंडन किया है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>