उत्तर कोरिया-आप हैरान रह जाएंगे,”प्लैज़र स्क्वैड’ के लिए नाबालिग लड़कियों का ‘वर्जिनिटी टेस्ट’

Apr 30, 2016

उत्तर कोरिया से जुड़ी एक ऐसी खबर सामने आई है, जिसे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे है। इस देश में कथित तौर पर शीर्ष अधिकारियों के मनोरंजन के लिए ऐसी व्यवस्था की जाती है, जो अपने आप में बेहद शर्मनाक है।

ब्रिटिश अखबार ‘द मिरर’ की रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर कोरिया में नाबालिग लड़कियों के दस्ते बनाए जाते हैं। इन्हें आम तौर पर ‘प्लैज़र स्क्वैड’ कहा जाता है। इन दस्तों में बेहद कम उम्र की लड़कियों तक की भर्ती की जाती है। जिनमें 13 साल की उम्र की लड़कियां तक शामिल हैं। इन्हें सरकार और सेना से जुड़े अधिकारियों के मनोरंजन के काम में लगाया जाता है।

सैनिक कथित तौर पर अपने मन से लड़कियों का चुनाव करते हैं। इन लड़कियों को कभी कभी उनके स्‍कूलों से ही चुन लिया जाता है। इसके बाद उन्हें देश के खास लोगों में होने वाली ‘सेक्स पार्टीज़’ में सर्विस के लिए भेजा जाता है।

इन्हें देश के तानाशाह ‘किम जोंग-उन का दस्ता’ या ‘गिपेमझो’ के नाम से भी पुकारा जाता है। यहां तक कि ये लड़कियां ‘वर्जिन’ हैं कि नहीं, इस बात की जांच के लिए उनका ‘मेडिकल टेस्ट’ भी किया जाता है।

रिपोर्ट में कुछ लड़कियों के हवाले से इस बारे में जानकारी दी गई है, जो किसी तरह इस जंजाल से बच गईं। एक लड़की ने मैगजीन मैरी क्‍लेयर को 2010 में अपनी आपबीती सुनाई। लड़की ने बताया था कि जब वो 15 साल की थी। सैनिक उसे बिना कोई जानकारी दिए स्कूल के क्लासरूम से उठा लाए। उन्‍होंने उससे पूछा कि उसने कभी किसी लड़के के साथ यौन संबंध बनाए कि नहीं?

इसके अलावा जो और जो जानकारियां रिपोर्ट में दी गई हैं, वे बताई भी नहीं जा सकती। लड़की ने दावा किया कि किम जोंग-इल ने कभी उसे संबंध बनाने के लिए नहीं बुलाया। किम जोंग-इल वर्तमान तानाशाह किम जोंग-उन के पिता थे। लेकिन अगर वो और ज्‍यादा दिन वहां रुकती तो ऐसा हो सकता था। बताया जा रहा है, किम ने 2011 में सत्ता में आने के बाद उस ग्रुप को बंद कर दिया था। जो उसके पिता का मनोरंजन करता था।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>