उत्तर भारत: भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में आठ की मौत

Jul 28, 2016

उत्तरी राज्यों में भारी बारिश होने के साथ देशभर में वर्षा से जुड़ी घटना में आठ लोगों की मौत हो गई, जबकि भूस्खलन होने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग बंद कर दिया गया.

मौसम विभाग के अधिकारियों ने पश्चिम बंगाल, सिक्किम, राजस्थान, गुजरात और गोवा के हिस्सों में भारी से बहुत भारी बारिश होने और असम, मेघालय, उत्तराखंड, जम्मू कश्मीर, उत्तर प्रदेश और केरल में भारी बारिश होने की चेतावनी दी है.

आज पूरे दिन बारिश ने दिल्ली को भिगोया. सफदरजंग वेधशाला ने 12.2 मिमी बारिश दर्ज की जिससे पारा नीचे आया, जबकि उमस बढ़ी. राष्ट्रीय राजधानी में अधिकतम तापमान 30.8 डिग्री सेल्सियस रहा जोकि इस मौसम के औसत से चार डिग्री नीचे है. वहीं न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जोकि इस साल के इस समय के लिए सामान्य है.
जम्मू कश्मीर में दो नाबालिग लड़कियां भारी बारिश से आई बाढ़ में बह गईं. राज्य में इस साल की सबसे अधिक वर्षा दर्ज की गई जो सुबह 8:30 बजे तक 157 मिमी रही. तवी नदी में बाढ़ का अलर्ट जारी किया गया है, जबकि उधमपुर में नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है.

भारी बारिश के कारण भूस्खलन के चलते 300 किलोमीटर लंबे जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग को बंद करना पड़ा है. यह कश्मीर को देश के बाकी हिस्से से जोड़ने वाला एकमात्र जमीनी मार्ग है. कश्मीर घाटी के कई अन्य हिस्सों में भी भारी बारिश हुई. श्रीनगर में 24.3 मिमी और पहलगाम में 19.6 मिमी बारिश दर्ज की गई.

तमिलनाडु के होसुर में भारी बारिश के बाद अचानक आई बाढ़ में 41 वर्षीय एक महिला और उसकी 13 वर्षीय बेटी के अलावा 20 साल का एक युवक बह गया. चन्द्रांबिगा झील भी खतरे के निशान से ऊपर है. इस राज्य में पिछले 24 घंटों में 14 सेमी बारिश दर्ज की गई.

हिमाचल प्रदेश में भी भारी बारिश दर्ज की गई. राज्य के सिरमौर जिले में एक कच्चा मकान ढहने से दो महिलाओं की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गए. इस राज्य में बारिश से जुड़ी घटनाओं में मरने वाले लोगों की कुल तादाद 20 पहुंच गई है.

भूस्खलन के बाद मनाली के निकट एक कंपनी के छह कर्मचारी भी फंस गए और उन्हें स्थानीय प्रशासन और अधिकारियों की मदद से बचाया गया.

उत्तराखंड के रद्रप्रयाग जिले में एक व्यक्ति मंदाकिनी नदी के पानी के बहाव में बह गया, जबकि उत्तरकाशी के बाड़कोट इलाके में भारी बारिश से तीन मकान बह गए.

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने राज्य के चार जिलों में बाढ़ की नाजुक स्थिति की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय आपात बैठक बुलाई.

असम के मुख्यमंत्री सर्बानन्द सोनोवाल ने आज विधानसभा को बताया कि बाढ़ के कारण 12 लोगों की मौत हुई है और राज्यभर में करीब 16 लाख लोग प्रभावित हुए हैं.

उत्तरी बंगाल के कुछ हिस्सों में मामूली बारिश हुई, जबकि गांगेय पश्चिम बंगाल के ज्यादातर हिस्सों में मानसून सुस्त रहा. दार्जीलिंग में 26.3 मिमी बारिश दर्ज की गई, जबकि बांकुड़ा में दिन का उच्चतम तापमान 33.2 डिग्री सेल्सियस रहा.

उत्तर प्रदेश में प्रमुख नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. राज्य के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई. झांसी में 12 सेमी और औरैया में 11 सेमी बारिश दर्ज की गई.

पटना और बिहार के अन्य हिस्सों में रुक रुककर बारिश होने से तापमान आरामदायक स्थिति में रहा. पटना का अधिकतम तापमान 32.2 डिग्री, जबकि गया का तापमान 31.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>