राष्ट्रवाद पार्टी की पहचान है राष्ट्रवाद पर नहीं आने देंगे आंच: अमित शाह

Apr 06, 2016

राष्ट्रवाद को लेकर चल रही बहस के बीच भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को जोर देकर कहा कि राष्ट्रवाद ही पार्टी की असली पहचान है.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रवाद पर कभी आंच नहीं आने दी जाएगी. शाह ने भाजपा के 36वें स्थापना दिवस पर दिल्ली में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही.

उन्होंने कहा, राष्ट्रवाद हमारी पहचान है और इसी विचारधारा पर पार्टी की स्थापना हुई थी. हमारी तीन पीढ़ियों ने राष्ट्रवाद की विचारधारा को आगे बढ़ाया है और अब यह इस पीढ़ी की जिम्मेदारी है कि इस सोच को आगे लेकर जायें. राष्ट्रवाद पर कभी आंच नहीं आनी चाहिए.

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, केंद्र के अलावा 13 राज्यों में पार्टी या सहयोगी दलों की सरकार है. पार्टी इस समय सफलता के शिखर पर है लेकिन कार्यकर्ताओं को इससे संतुष्ट नहीं होना चाहिए और पार्टी को ऐसे मुकाम पर ले जाना चाहिए जहां अगले 25 साल तक पंचायत से लेकर संसद तक भाजपा का ही परचम लहराये.

उन्होंने कहा, हमे ऐसी मजबूत इमारत बनानी है जिसके सामने बाकी सभी इमारतें छोटी पड़ जायें.

शाह ने कहा कि भाजपा और उससे पूर्व जनसंघ ने निहित स्वार्थों के लिए नहीं बल्कि हमेशा राष्ट्र के लिए आंदोलन किया. गोहत्या, कच्छ का सत्याग्रह, हैदराबाद आंदोलन, गोवा मुक्ति आंदोलन, चेतना या और राममंदिर आंदोलन इसी राष्ट्रवाद से प्रेरित थे. हमारी प्राथमिकता विचारधारा है और इसी सोच के साथ भाजपा की स्थापना की गयी थी.

उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता छोड़ सकती है लेकिन सिद्धांतों को कभी नहीं छोड़ सकती. भाजपा चतुराई की राजनीति में नहीं बल्कि चरित्र की राजनीति में विश्वास करती है और सत्ता उसके लिए साध्य नहीं है बल्कि साधन है.

शाह ने कहा कि भाजपा निश्चित लक्ष्यों के साथ राजनीति में आयी है और कभी भी इन लक्ष्यों से भटकी नहीं है.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दुनिया का सबसे लोकप्रिय नेता बताते हुए शाह ने कहा कि उनके नेतृत्व में सरकार गांव, गरीब, किसान, बेरोजगार, दलित और पिछड़ों को केंद्र में रखकर काम कर रही है. यह कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारी है कि वह मोदी सरकार की योजनाओं और नीतियों को आम जन तक पहुंचायें.

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>