निर्भया गैंगरेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की फांसी की सजा को रखा बरक़रार

May 05, 2017
निर्भया गैंगरेप केस: सुप्रीम कोर्ट ने दोषियों की फांसी की सजा को रखा बरक़रार

सर्वोच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दिसंबर 2012 में घटी सामूहिक दुष्कर्म की घटना के सभी चार दोषियों की फांसी की सजा शुक्रवार को बरकरार रखी। अदालत के फैसले के बाद निर्भया के माँ बाप ने इसे न्याय और पुरे समाज की जीत बताया। आज सुबह से ही पूरा देश सुप्रीम कोर्ट की तरफ नज़र बनाये था क्या आएगा फैसला।

पवन गुप्ता, विनय शर्मा, मुकेश और अक्षय ठाकुर को एक 23 वर्षीय पैरामेडिकल की छात्रा के साथ चलती बस में सामूहिक दुष्कर्म करने और बेरहमी के साथ उसकी पिटाई करने के आरोपों में सुप्रीम कोर्ट में दोषी ठहराया गया है। जस्टिस दीपक मिश्रा सहित तीन जजों की पीठ ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। जस्टिस दीपक मिश्रा ने पूरा फैसला पढ़कर सुनाया। और माना की दोषियों को पता है की उन्होंने कितनी हैवानियत हरकत की है। साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि अमिकस क्युरी ने जो दलीले दी है वो प्रयाप्त नहीं है। इसलिए निर्भया के आरोपी अक्षय ठाकुर, विनय शर्मा, पवन गुप्ता और मुकेश की फांसी की सजा को बरकारा रखा जाता है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>